रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Assembly Election 2019 - दूसरे चरण में जिन 20 सीटों पर चुनाव हो रहा है वहां पार्टियों का पासा पलटने में कई बार वक्त नहीं लगा और लोगों को भी अपना मन और मत बदलने में भी सोचना नहीं पड़ा। पिछले लोकसभा चुनाव और इसके छह महीने बाद हुए विधानसभा चुनाव में जमीन-आसमान का अंतर था। लोकसभा चुनाव में सभी 20 विधानसभा क्षेत्रों में से कांग्रेस और झामुमो को एक सीट पर भी बढ़त नहीं मिल पाई थी जबकि विधानसभा चुनाव में झामुमो ने आठ सीटें अपने खाते में कर लीं।

छह महीने पूर्व 14 सीटों पर बढ़त बनानेवाली भाजपा बढ़त को आठ सीटों पर ही बरकरार रख सकी। यही हाल मधु कोड़ा की जय भारत सामंता पार्टी का भी हुआ। लोकसभा चुनाव में तीन सीटों पर बढ़त बनाकर सबको चुनौती देनेवाली पार्टी विधानसभा में एक सीट ही बचा सकी। इसके इतर झारखंड विकास मोर्चा अपनी बढ़त को बरकरार रखने में विफल हुई और कहीं न कहीं झारखंड पार्टी भी।

लोकसभा चुनाव में झारखंड पार्टी को दो सीटों पर बढ़त मिली थी लेकिन विधानसभा चुनाव में पार्टी ने एक बढ़त गंवा दी और महज एक सीट (कोलेबिरा) पर सिमटकर रह गई। यह सीट भी एनोस एक्का के चुनाव लडऩे पर रोक लगने के बाद कांग्रेस के खाते में आ गई। लोकसभा चुनाव में तोरपा में झापा को बढ़त मिली थी लेकिन विधानसभा चुनाव में यहां झामुमो को बढ़त मिल गई।

इन प्रमुख कारणों से बढ़त गंवाई

विस क्षेत्र     लोस 2014    विस 2014

बहरागोड़ा    भाजपा         झामुमो

घाटशिला    भाजपा        भाजपा

पोटका       झाविमो       भाजपा  

जुगसलाई    भाजपा        आजसू

जमशेदपुर पूर्वी    भाजपा     भाजपा  

जमशेदपुर प.   भाजपा      भाजपा 

सरायकेला     भाजपा       झामुमो 

चाईबासा      जभासपा     झामुमो 

मझगांव       जभासपा     झामुमो  

जगन्नाथपुर   जभासपा     जभासपा

मनोहरपुर     भाजपा       झामुमो  

चक्रधरपुर    भाजपा       झामुमो

खरसावां     भाजपा       झामुमो 

तमाड़       भाजपा       आजसू   

तोरपा       झापा         झामुमो   

खूंटी       भाजपा       भाजपा

मांडर      भाजपा       भाजपा

सिसई      भाजपा      भाजपा

सिमडेगा    भाजपा     भाजपा

कोलेबिरा    झापा       झापा

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस