रांची, जेएनएन। Jharkhand Assembly Election 2019 बुधवार को डालटनगंज विधानसभा क्षेत्र से  नामांकन करने वाले कांग्रेस प्रत्याशी कृष्णानंद त्रिपाठी जहां 41 करोड़ की चल व अचल संपत्ति के मालिक हैं, वहीं इस सीट से वर्तमान विधायक भाजपा प्रत्याशी आलोक चौरसिया 2.50 करोड़ की चल-अचल संपत्ति के मालिक हैं। इन नेताओं के हलफनामे के अनुसार केएन त्रिपाठी के विरुद्ध न्यायालय में चार व विभिन्न थानों में पांच मामले लंबित हैं। इनके पास दो लाख रुपये नकद राशि है।

उधर आलोक के बैंक खाते में 32 लाख व नकद 2.5 लाख रुपये हैं। आलोक के विरुद्ध कोई मामला दर्ज नहीं है। इसी तरह डाल्टनगंज से झारखंड विकास मोर्चा प्रत्याशी डॉ. राहुल अग्रवाल 2.70 करोड़ की चल व अचल संपत्ति है। इनकी कुल देनदारी 1.49 करोड़ है। डॉ. राहुल के पास नकद 5.5 लाख रुपये हैं।

उधर चतरा से भाजपा उम्मीदवार जनार्दन पासवान के पास 1.20 करोड़ की संपत्ति है। वहीं जनार्दन हत्या के दो मामलों सहित तीन के आरोपी है। उनके परिवार में चार लाइसेंसी हथियार  हैं। जनार्दन की 1,19,87,832 रुपये की संपत्ति में उनकी पत्नी के पास 7,19,519 रुपये हैं। जनार्दन पर दो हत्याकांड सहित चार मामले विभिन्न थानों में दर्ज हैं। वह चंद्रिका यादव हत्याकांड एवं सीडीपीओ हत्याकांड जैसे मामले के नामजद आरोपी हैं। दोनों हत्या के मामले जिले के प्रतापपुर थाना में दर्ज हैं।

पूर्व विधायक की शैक्षणिक योग्यता स्नातक है। वहीं उनके पास  3,91,735 रुपये नकद, जबकि उनकी पत्नी के पास 1,34,519 रुपये नकद हैं। जनार्दन के पास एक पेट्रोल पंप, स्कार्पियो, टैंकर, 10 ग्राम सोना, एक रायफल, एक बंदूक व एक रिवाल्वर है। उनकी पत्नी के नाम पर 150 ग्राम सोना व एक रायफल है। जनार्दन पासवान के पास विभिन्न जगहों पर कुल 80 लाख 80 हजार की जमीन भी है। उनकी पत्नी के नाम पर भी 45 लाख रुपये की जमीन है। जनार्दन पासवान पर 35 लाख 18 हजार 711 रुपये का ऋण है।

सुखदेव भगत के खिलाफ दर्ज है एक मामला

लोहरदगा विधायक और भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार सुखदेव भगत शिक्षा और संपत्ति के मामले में लोहरदगा के अन्य प्रत्याशियों से आगे हैं। नामांकन पत्र के साथ दिए गए शपथ पत्र के अनुसार सुखदेव भगत के पास 94 लाख 42 हजार 22 रुपये की चल-अचल संपत्ति है। इनमें 64 लाख 42 हजार 22 रुपये की चल और 30 लाख रुपये की अचल संपत्ति है। वहीं सुखदेव भगत की पत्नी अनुपमा भगत के पास 65 लाख 37 हजार 800 रुपये की चल- अचल संपत्ति है। अनुपमा भगत के पास 52 लाख 37 हजार 800 रुपये की चल और 13 लाख रुपये की अचल संपत्ति है। सुखदेव भगत के आश्रित के पास भी 11 लाख रुपये की अचल संपत्ति है।

सुखदेव के नाम पर 7 लाख 10 हजार 478 रुपये का वाहन ऋण और अनुपमा भगत के नाम पर 26 लाख 58 हजार 368 रुपये का वाहन तथा व्यक्तिगत ऋण है। उनके आश्रित के नाम पर भी 2 लाख 41 हजार 500 रुपये का ऋण है। सुखदेव भगत ने स्नातकोत्तर तक की शिक्षा प्राप्त की है। वहीं उनपर सरकारी कार्य में बाधा डालने का एक मामला भी दर्ज है।

पूर्व विधायक रामेश्‍वर उरांव ने नामांकन पत्र के साथ जो शपथ पत्र दायर किया है, उसके अनुसार उनके पास 62 लाख 16 हजार 918 रुपये की चल और अचल संपत्ति है। जबकि पत्नी के पास 12 लाख 41 हजार 210 रुपये की चल-अचल संपत्ति है। रमेश उरांव के नाम पर 3 लाख 68 हजार रुपये का ऋण भी है। उनके विरुद्ध सेन्हा थाने में अवैध रूप से बालू उठाव का मामला भी दर्ज है। रमेश उरांव ने इंटरमीडिएट तक की शिक्षा प्राप्त की है। उनके पास 10 लाख 16 हजार 918 रुपये की चल और 52 लाख रुपये की अचल संपत्ति है।

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप