रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Assembly Election 2019 - झारखंड विधानसभा चुनाव के तहत पहले चरण की सीटों के लिए छह नवंबर को  चुनाव की अधिसूचना के साथ ही पूरे राज्य में जो चुनाव प्रचार शुरू हुआ था, वह बुधवार को अंतिम दौर की सीटों के साथ खत्म हो गया। पांचवें और अंतिम चरण की 16 सीटों पर बुधवार को चुनावी शोर थम गया। इससे पहले, सभी दलों और प्रत्याशियों ने संताल परगना प्रमंडल की इन सीटों पर पूरा जोर लगाया।

भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, कांग्रेस की प्रियंका गांधी सहित कई दिग्गजों ने अंतिम दिन अपने-अपने दलों के प्रत्याशियों के पक्ष में जनसभाएं कीं। अंतिम दौर की 16 सीटों पर 20 दिसंबर को मतदान होना है। इसलिए मतदान समाप्ति के 48 घंटे पहले चुनाव प्रचार खत्म हो गया। इसके बाद प्रत्याशी डोर टू डोर कैंपेन में जुट गए। मतदान समाप्ति के 48 घंटे पहले इन सीटों से संबंधित जिलों व सीमावर्ती जिलों में ड्राई डे भी लागू हो गया।

इसके तहत इन जिलों व सीमावर्ती जिलों में 48 घंटे तक शराब की बिक्री बंद रहेगी। अंतिम दौर की सीटों में 11 सीटों पर सुबह सात बजे से शाम पांच बजे तक मतदान होगा। इनमें राजमहल, पाकुड़, नाला, जामताड़ा, दुमका, जामा, जरमुंडी, सारठ, पोड़ैयाहाट, गोड्डा और महगामा शामिल हैं। सुरक्षा कारणों से शेष पांच सीटों बोरियो, बरहेट, लिट्टीपाड़ा, महेशपुर तथा शिकारीपाड़ा में सुबह सात बजे से शाम तीन बजे तक ही मतदान होगा।

छह जिलों में स्थित हैं सभी 16 सीटें

अंतिम दौर की सभी 16 सीटें छह जिलों में स्थित हैं। साहिबगंज जिले में राजमहल, बोरियो व बरहेट, पाकुड़ जिले में लिट्टीपाड़ा, पाकुड़ व महेशपुर्र, जामताड़ा जिले में नाला व जामताड़ा, दुमका जिले में शिकारीपाड़ा, दुमका, जामा व जरमुंडी, देवघर जिले में सारठ तथा गोड्डा जिले में पोड़ैयाहाट, गोड्डा व महगामा शामिल हैं। इन सीटों में सात सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं, जबकि नौ सीटें सामान्य श्रेणी की हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021