रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Assembly Election 2019 झारखंड विधानसभा चुनाव को लेकर यूपीए गठबंधन का रुख स्पष्ट होने के बाद अब भाजपा अपने पत्ते खोलेगी। शनिवार को पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक बुलाई गई है, जिसमें पिछले दो दिनों के मंथन के बाद तैयार प्रत्याशियों की सूची पर मुहर लगेगी। इसी दिन आजसू के साथ रिश्तों को लेकर भी एनडीए गठबंधन की तस्वीर साफ हो जाएगी।

इधर, शुक्रवार को भी दिल्ली में भाजपा विधानसभा चुनाव प्रभारी ओम प्रकाश माथुर के आवास पर प्रदेश की कोर टीम की हुई बैठक में प्रत्याशियों की सूची को अंतिम रूप देने की प्रक्रिया को पूरा कर लिया गया है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के निर्देश पर प्रदेश चुनाव समिति से निकले निष्कर्ष के साथ ही भाजपा सांसदों की राय को भी सूची में जगह दी गई है। शाह के साथ प्रदेश की कोर टीम की बैठक गुरुवार रात एक बजे तक चली।

शनिवार शाम पार्टी के केंद्रीय कार्यालय में चुनाव समिति की बैठक बुलाई गई है। चुनाव समिति की बैठक के बाद संसदीय समिति की बैठक भी होगी, इसके बाद पहले व दूसरे चरण के लिए प्रत्याशियों की घोषणा कर दी जाएगी। बताया जा रहा है कि भाजपा की नजर यूपीए गठबंधन पर लगी हुई थी, यही वजह रही कि पार्टी ने शुक्रवार को तैयारी पूरी होने के बाद भी अपने निर्णय को होल्ड पर रखा। 

आजसू से बढ़े सुलह के आसार

भाजपा और आजसू गठबंधन को लेकर सुलह के आसार नजर आने लगे हैं। भाजपा के शीर्ष नेतृत्व के कड़े रुख को देखते हुए आजसू की ओर से कुछ लचीला रुख अपनाने की बात कही जा रही है। सहमति के आसार की वजह सीटों की संख्या में कुछ बढ़ोतरी को बताया जा रहा है। पिछले चुनाव में आजसू को आठ सीटें दी गईं थी, इस बार दो-तीन सीटें बढ़ाने के संकेत भाजपा की ओर से दे दिए गए हैं। जिच अब सीटों की संख्या को लेकर नहीं बल्कि लोहरदगा, चंदनक्यारी और हुसैनबाद जैसी सीटों पर है। जिसका पेंच शनिवार तक सुलझा लेने का दावा किया जा रहा है। 

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप