रांची, राज्य ब्यूरो। भारत निर्वाचन आयोग ने स्वच्छ, भयमुक्त व पारदर्शी मतदान सुनिश्चित करने के लिए लगभग 3,200 दबंगों की पहचान की है। संभावना जताई जा रही है कि ये चुनाव में मतदाताओं पर दबाव डालकर मतदान को प्रभावित कर सकते हैं। पुलिस अधीक्षकों द्वारा इनपर लगातार नजर रखी जा रही है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय कुमार चौबे, अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कृपानंद झा तथा शैलेश कुमार चौरसिया ने संयुक्त रूप से यह जानकारी देते हुए कहा कि पूरे राज्य में कमजोर वर्ग के लगभग 1.02 लाख मतदाता भी चिह्नित किए गए हैं, जो इन दबंगों के डर से प्रभावित हो सकते हैं।

उपायुक्तों, पुलिस अधीक्षकों तथा सहायक निर्वाची पदाधिकारियों द्वारा संबंधित गांवों व टोलों में लगातार उनसे संपर्क कर काउंसिलिंग की जा रही है कि वे भयमुक्त होकर मतदान करें। उनसे फोन पर भी लगातार बात की जा रही है। इधर, निर्वाचन आयोग ने चार दिनों में एक करोड़ रुपये से अधिक के नकद, शराब और नशीले पदार्थ की जब्ती की है। अबतक कुल लगभग 2.70 करोड़ रुपये नकद व अन्य अवैध सामग्री की जब्ती हो चुकी है। इनमें  लगभग 89.74 लाख नकद राशि, 94 रुपये के शराब, 33 लाख के ड्रग्स व अन्य नशीले पदार्थ तथा 52 लाख रुपये की अन्य अवैध सामग्री पकड़ी गई है।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के अनुसार, आचार संहिता उल्लंघन मामले में अबतक 29 प्राथमिकी दर्ज की गई है। पूर्वी सिंहभूम में जिले आठ, पलामू तथा बोकारो में चार-चार, धनबाद व गढ़वा में तीन-तीन, रांची में दो तथा सरायकेला-खरसावां, गढ़वा, जामताड़ा, सिमडेगा तथा लोहरदगा जिले में एक-एक मामले दर्ज किए गए हैं।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप