रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Assembly Election 2019 एक नवंबर को विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा के साथ ही पूरे राज्य में आचार संहिता प्रभावी है। इस सिलसिले में आदर्श आचार संहिता उल्लंघन के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। अब तक इस मामले में इस बाबत 127 प्राथमिकियां दर्ज कराई जा चुकी हैं। जबकि, 10 दिसंबर तक कुल 107 प्राथमिकी दर्ज हुई थी। इस तरह पिछले पांच दिन में 20 नई प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय कुमार चौबे ने संवाददाता सम्मेलन में इसकी जानकारी दी है।

सबसे ज्यादा पूर्वी सिंहभूम में 17 प्राथमिकियां

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि सबसे ज्यादा 17 प्राथमिकियां पूर्वी सिंहभूम में दर्ज की गई हैं। इनमें पलामू में 17, धनबाद में 13, गढ़वा में 11, गिरिडीह में 16 रांची में 3, बोकारो में 13, सरायकेला-खरसावां में 1, जामताड़ा में 7, सिमडेगा में 1, लोहरदगा में 2, पाकुड़ में 2, गुमला में 1, कोडरमा में 5, साहेबगंज में 2, गोड्डा में 6, रामगढ़ में  हजारीबाग में 1 और चतरा में 1 प्राथमिकी दर्ज की गई है।

सी-विजिल पर रांची से सबसे ज्यादा 477 शिकायतें मिलीं

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि सी-विजिल पर आचार संहिता उल्लघंन को लेकर 1959 शिकायतें मिल चुकी हैं। इसमें बोकारो में 123, चतरा में 48, देवघर में 36, धनबाद में 216, दुमका में 103, पूर्वी सिंहभूम में 171, गढ़वा में 91, गिरिडीह में 76, गोड्डा में 44, गुमला में 43, हजारीबाग में 63, जामताड़ा में 23, खूंटी में 49, कोडरमा में 135, लातेहार में 26, लोहरदगा में 22, पाकुड़ में 52, पलामू में 52, रामगढ़ में 26 , रांची में 477, साहेबगंज में 17, सरायकेला-खरसांवा में 22, सिमडेगा में 17 और पश्चिमी सिंहभूम में 27 शिकायतें मिली हैं। इनमें से 204 शिकायतें सही पाई गई है। उन्होंने यह भी बताया कि 6 मामलों को छोड़कर बाकी सभी का निष्पादन कर दिया गया है। इससे पहले 10 दिसंबर तक आचार संहिता के उल्लंघन की 1820 शिकायतें सी-विजिल पर दर्ज कराई गई थी।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस