राज्य ब्यूरो, शिमला। भारतीय जनता पार्टी ने हिमाचल विधानसभा चुनाव के लिए अंतत: सभी 68 प्रत्याशियों की सूची बुधवार शाम को जारी कर दी। लंबे मंथन, सहमति-असहमति पर चर्चा और मान मनौव्वल के बाद पार्टी ने मिशन 50 प्लस को साधने के लिए 16 नए चेहरे मैदान में उतारे हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री और केंद्रीय चुनाव समिति के सचिव जगत प्रकाश नड्डा द्वारा हस्ताक्षरित सूची जारी होने से पूर्व नड्डा ने पालमपुर में वरिष्ठ नेता शांता कुमार और सुजानपुर में पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल के साथ भी चर्चा की। पार्टी ने चार विधायकों के टिकट काटे हैं जबकि छह महिलाओं को चुनाव में उतारा है। इन प्रत्याशियों में दो सेवानिवृत्त आइएएस अफसर हैं जबकि पिछले चुनाव में हार चुके 20 चेहरों पर भी भरोसा जताया है।

चूंकि इस सूची से पूर्व ही चुनाव लड़ने वाले नेताओं को फोन करके अवगत करवा दिया गया था, लिहाजा दो भाजपा विधायकों महेंद्र सिंह ठाकुर व विजय अग्निहोत्री पहले ही नामांकन भर चुके हैं। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने कहा कि सर्वे के आधार पर सामने आए नामों में से प्रत्याशियों का चयन किया गया। विधानसभा चुनाव के लिए टिकट मिलने के बाद भाजपा प्रत्याशी दीवाली मनाने के बाद शुक्रवार से नामांकन पत्र दाखिल करेंगे।

कई सीटों पर नेताओं को फोन नहीं आने पर भ्रम की स्थिति पैदा हो गई थी लेकिन अब सब साफ हो गया है। भाजपा ने पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल का विधानसभा क्षेत्र हमीरपुर से बदलकर सुजानपुर कर दिया है जबकि सांसद शांता कुमार के विधानसभा हलके में उनके वफादार प्रवीण शर्मा का टिकट काट दिया है। वहां से अब राज्य महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष इंदू गोस्वामी चुनाव लड़ेंगी। विधानसभा चुनाव में 16 ऐसे चेहरे हैं जो भाजपा की टिकट पर पहली बार चुनाव लड़ेंगे।

चार विधायकों का टिकट कटा

भाजपा ने दो बार मंत्री रह चुके बिलासपुर के झंडूता से विधायक रिखीराम कौंडल, चंबा से दो बार विधायक रह चुके बीके चौहान,अर्की के दो बार विधायक रहे गोबिंद राम शर्मा और पूर्व शिक्षा मंत्री आइडी धीमान के पुत्र और हमीरपुर के भोरंज से विधायक डॉ. अनिल धीमान का टिकट काट दिया है। छह महिलाओं पर भरोसा 12वीं विधानसभा में सरवीण चौधरी भाजपा की एकमात्र महिला विधायक हैं।

इस बार छह महिलाओं को चुनाव मैदान में उतारा है। 2012 का चुनाव लड़ने वाली रेणु चड्ढा, विनोद कुमारी चंदेल, शीला देवी के नाम पर विचार नहीं किया लेकिन इंदु गोस्वामी को पालमपुर, शशि बाला को रोहडू, विजय ज्योति सेन को कसुम्पटी, सरवीण चौधरी को शाहपुर, कमलेश कुमारी को भोरंज और रीता धीमान को इंदौरा से उतारा है।
 

राजनीति में धूमल के शिष्य रहे राजेंद्र राणा ने भी 23 अक्बटूर को नामांकन पत्र भरने की घोषणा की है। हालांकि कांग्रेस पार्टी ने अभी तक अपने पार्टी प्रत्याशियों की सूची जारी नहीं की है, लेकिन सुजानपुर कांग्रेस से टिकट को लेकर राजेंद्र राणा पूरी तरह आश्वस्त हैं।

हिमाचल प्रदेश में कुल 68 विधानसभा सीटें हैं, जहां नौ नवंबर को वोट डाले जाएंगे। वोटों की गिनती 18 दिसंबर को होगी।

हिमाचल प्रदेश के चुनावी मैदान में सत्ताधारी कांग्रेस को हराने के लिए भाजपा आलाकमान ने विचार-विमर्श के बाद अपने प्रत्याशियों का एलान किया है।

इस बार हिमाचल प्रदेश में चुनाव दिलचस्प होने वाले हैं। कांग्रेस ने जहां भ्रष्टाचार का आरोप झेल रहे वर्तमान मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह को ही सीएम प्रत्याशी बनाया है। वहीं, भाजपा ने अभी तक सीएम उम्मीदवार का एलान नहीं किया है। 

2012 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने राज्य की 68 सीटों में से 36 सीटें जीती थी। भाजपा ने 26 सीटें जबकि अन्य के खाते में 6 सीटे गई थी। 2014 के लोकसभा चुनावों में भाजपा ने सभी चारों सीटों पर कब्जा कर लिया था।

जानिए, कौन-कहां से लड़ेगा चुनावः

प्रमोद शर्मा शिमला ग्रामीण और रतन सिंह पाल से आरकी से चुनाव लड़ेंगे।

चुनाव आयोग ने 12 अक्टूबर को हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव 2017 की तारीखों का एलान किया था।

हिमाचल विस चुनावः कांग्रेस ने जारी की 59 उम्मीदवारों की सूची

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस