गुरुग्राम, जागरण संवाददाता। शांतिपूर्ण मतदान संपन्न कराने के बाद अब शांतिपूर्ण व निष्पक्ष तरीके से मतगणना कराना प्रशासन के लिए चुनौती है। किसी भी उम्मीदवार की ओर से ईवीएम की सुरक्षा को लेकर आपत्ति न आए इसके लिए तीन स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था पर जोर दिया गया है। स्ट्रांग रूम के सबसे नजदीक की सुरक्षा सीआरपीएफ के हवाले है।

सुरक्षा में तैनात है कमांडो

इसके कुछ दूरी पर पुलिस के कमांडो भी तैनात किए गए हैं। सबसे बाहरी यानी तीसरे स्तर की सुरक्षा व्यवस्था स्थानीय पुलिस के हवाले है। स्ट्रांग रूम के चारों तरफ सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। जिला प्रशासन एवं पुलिस महकमे के वरिष्ठ अधिकारी समय-समय पर दौरा कर रहे हैं ताकि किसी भी स्तर पर चूक न हो। स्ट्रांग रूम मतगणना के दिन ही यानी 24 अक्टूबर को ही सीधे खोले जाएंगे।

प्रतिनिधि भी लगा रहे चक्‍कर

कई उम्मीदवारों के प्रतिनिधि भी यहां रात-दिन रह रहे हैं। जिले में चार विधानसभा क्षेत्र गुड़गांव, सोहना, बादशाहपुर एवं पटौदी हैं। सभी के लिए अलग-अलग स्ट्रांग रूम में सेक्टर-14 स्थित राजकीय कन्या महाविद्यालय में बनाए गए हैं। मतगणना कार्य भी इसी महाविद्यालय में संपन्न होगा। इससे पहले रेलवे रोड स्थित द्रोणाचार्य महाविद्यालय में स्ट्रांग रूम बनाए जाते थे।

तगड़ी है सुरक्षा व्‍यवस्‍था

मतगणना के दिन महाविद्यालय परिसर के साथ ही बाहर भी काफी संख्या में ट्रैफिक पुलिसकर्मी तैनात किए जाएंगे ताकि आसपास के इलाकों में ट्रैफिक का दबाव न बढ़े। तीन स्तरीय सुरक्षा के बाद किसी भी स्तर पर गड़बड़ी या चूक होने की संभावना नहीं। जहां तक मतगणना कराने का सवाल है तो जल्द ही इसके लिए अधिकारियों एवं कर्मचारियों की जिम्मेदारी तय की जाएगी। मतगणना कार्य भी शांतिपूर्ण व निष्पक्ष तरीके से संपन्न होगा।

अमित खत्री, जिला निर्वाचन अधिकारी व जिला उपायुक्त, गुरुग्राम

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस