जेएनएन, चंडीगढ़/रोहतक। विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा इस बार पिछले चुनावों की तुलना में अधिक वादे और घोषणाएं करने की तैयारी में है। वर्ष 2014 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने जहां 154 वादे किए थे, वहीं इस बार आमजन से मिले फीडबैक के आधार पर पार्टी ने संकल्प पत्र के लिए करीब 200 सुझावों को शॉर्टलिस्ट किया है। जल्द ही संकल्प पत्र के लिए गठित समिति इस पर रिपोर्ट देगी।

कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ की अगुवाई में गठित भाजपा संकल्प पत्र कमेटी को करीब एक लाख 70 हजार सुझाव मिले हैं। राज्य के सभी 90 विधानसभा क्षेत्रों में प्रचार रथ के जरिये 70 हजार व सोशल मीडिया पर एक लाख सुझाव मिले। समिति के संयोजक और कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ के मुताबिक इनमें से 200 सुझावों को शार्ट-लिस्ट किया गया है। अब शनिवार को इन सुझावों पर प्रदेश के सभी दस सांसदों और 90 विधायकों की राय ली जाएगी। इसके बाद कमेटी संकल्प पत्र के लिए सिफारिशें पार्टी आलाकमान को सौंपेगी। 

धनखड़ ने बताया कि संकल्प पत्र के लिए 18 विशेष रथ सभी विधानसभा क्षेत्रों में पंहुचे। सोशल मीडिया के माध्यम से भी सुझाव मिले जिनका अध्ययन करने के बाद दो हजार सुझाव कलमबद्ध करते हुए वर्तमान सुधार व भविष्यगामी नीतियों की दो सूचियां तैयार की गई हैं। उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि आगामी 25 सितम्बर तक संकल्प पत्र का अंतिम स्वरूप पार्टी नेतृत्व को सौंप दिया जाएगा। 

चुनाव संचालन और चुनाव प्रबंधन टोली से भाजपा हासिल करेगी विजयश्री

भारतीय जनता पार्टी पूरी तरह से एक्शन मोड में है। भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष गत दिवस रोहतक पहुंचे। उन्होंने विधानसभा प्रभारियों के साथ बैठक करके चुनाव में जीत हासिल करने के लिए रणनीति तैयार की। उन्होंने कहा कि विजयश्री के लिए चुनाव संचालन टोली और चुनाव प्रबंधन टोली तैयारी करनी होगी। उन्होंने प्रभारियों को जीत का मंत्र देकर जनता के बीच जाने का आह्वान किया। बैठक में हरियाणा प्रभारी एवं राज्यसभा सदस्य डा. अनिल जैन, प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला, प्रदेश संगठन मंत्री सुरेश भट्ट और प्रदेश महामंत्री संदीप जोशी भी मौजूद थे। 

संघ मिलेगा सक्रिय सहयोग

लोकसभा चुनाव में हरियाणा की सभी दस लोकसभा सीट जीतने के बाद भाजपा को विधानसभा चुनाव में भी बड़ी जीत की उम्मीद है। साथ ही पार्टी कार्यकर्ताओं की अति आत्मविश्वास से दूर रखेगी। इसके लिए अपनी जन आशीर्वाद यात्रा खत्म करने के बाद खुद मुख्यमंत्री मनोहर लाल राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के वरिष्ठ पदाधिकारियों से संपर्क कर रहे हैं। मुख्यमंत्री बुधवार देर सायं चंडीगढ़ से दिल्ली पहुंचे तो वे सीधे चाणक्यपुरी स्थित हरियाणा निवास पहुंचे। यहां उनकी संघ के वरिष्ठ पदाधिकारियों से बुधवार आधी रात के बाद तक गहन मंत्रणा हुई। इसके बाद वीरवार को भी सुबह हरियाणा निवास में मुख्यमंत्री ने संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख अरुण कुमार से करीब घंटे तक बैठक की। 

सूत्र बताते हैं कि हरियाणा विधानसभा चुनाव में भाजपा राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के स्वयंसेवकों को सक्रिय रूप से उतारना चाहती है। इसके लिए संघ के बड़े पदाधिकारियों के साथ समन्वय का जिम्मा खुद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने संभाला है। संघ पृष्ठभूमि से भाजपा में आए सीएम मनोहर लाल संगठन की रीति नीति और कार्यशैली को चूंकि अच्छी तरह से समझते हैं, इसलिए उन्हें संघ के बड़े पदाधिकारियों का भरपूर समर्थन मिल रहा है।

भाजपा के रणनीतिकारों का मानना है कि हरियाणा विधानसभा चुनाव में सब कुछ सकारात्मक होने के बावजूद भी पार्टी व मार्ग दर्शक सहित सहयोगी संगठनों की पूरी ताकत झोंकी जाएगी। इसके लिए संघ के प्रचार विभाग का भी पूरा सहयोग लिया जाएगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अपनी 20 दिवसीय जन आशीर्वाद यात्रा का विस्तृत विवरण भी संघ के वरिष्ठ नेताओं से इस दौरान सांझा किया है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप