नई दिल्ली/चंडीगढ़, जेएनएन। Haryana Assembly Election 2019 लिए भारतीय जनता पार्टी के प्रत्‍याशियों की पहली सूची जारी कर दी गई है। सीएम मनोहर लाल करनाल और हरियाणा भाजपा अध्‍यक्ष सुभाष बराला टोहाना से चुनाव लड़ेंगे। सूची सायं साढ़े चार बजे के बाद घा‍ेषित की गई। मुख्यमंत्री मनोहर लाल करनाल और हरियाणा भाजपा के प्रधान सुभाष बराला टोहाना से चुनाव लड़ेंगे। 

राज्‍य के कैबिनेट मंत्रियों विपुल गोयल और राव नरबीर के टिकट कटे

अभी 78 उम्‍मीदवारों की घोषणा की गई है। सबसे अहम बता है कि राज्‍य के उद्योग मंत्री विपुल गोयल और कैबिनेट मंत्री राव नरबीर सिंह का टिकट काट दिया गया है। मौजूदा सात विधायकों के टिकट काटे गए हैं। पार्टी ने नौ महिलाओं को टिकट दिए हैं। तीन खिलाडियों को टिकट दिया गया है।

भाजपा ने पहली सूची में दूसरे दलों से आने वाले आठ विधायकों, एक पूर्व राज्यसभा सदस्य और एक अन्य नेता को टिकट दिए हैं। इनके अलावा खाद्य एवं आपूर्ति राज्य मंत्री कर्ण देव कंबोज को इंद्री की बजाए रादौर विधानसभा क्षेत्र से टिकट दिया गया है। इंद्री से इनेलो से आए पूर्व राज्यसभा सदस्य रामकुमार कश्यप को उम्मीदवार बनाया गया है। इनके अलावा ओलंपियन पहलवान योगेश्वर दत्त बरौदा, पहलवान गीता फौगाट दादरी और भारतीय हाकी टीम के पूर्व कप्तान संदीप सिंह पेहोवा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ेंगे। भाजपा ने नौ महिलाओं व 38 मौजूदा विधायकों को टिकट दिए हैं। 32 सीटें बदली गई हैं।

योगेश्‍वर दत्‍त बरोदा, संदीप सिंह पेहवा और बबीता फोगाट दादरी से भाजपा प्रत्‍याशी

अंतरराष्‍ट्रीय पहलवान योगेश्‍वर दत्‍त सोनीपत जिले के बड़ौदा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ेंगे। भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्‍तान संदीप सिंह कुरुक्षेत्र के पेहवा और  अंतरराष्‍ट्रीय महिला पहलवान बबीता फोगाट दादरी से चुनाव लड़ेंगी। पंचकूला से ज्ञानचंद गुप्‍ता को भाजपा का टिकट मिला है। कैबिनेट मंत्री कृष्‍णलाल पंवार को इसराना से उम्‍मीदवार बनाया गया है। इसी तरह कैबिनेट मंत्री कविता जैन को सोनीपत से प्रत्‍याशी होंगी।

पार्टी ने 12 क्षेत्रों के टिकट अभी घोषित नहीं किए हैं उनमें दो बागी विधायकों के क्षेत्र भी शामिल हैं। इन 12 क्षेत्रों में रेवाड़ी, गुरुग्राम, कोसली क्षेत्र केंद्रीय राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह के प्रभाव के हैं। भाजपा ने दो बागी विधायकों के भी कतरे हैं। इनमें मुलाना से संतोष सारवान और पटौदी से बिमला चौधरी शामिल हैं। जिन विधायकों के टिकट कटे हैं, उनमें सोहना से तेजपाल तंवर, रादौर से श्याम सिंह राणा और गुहला से कुलवंत बाजीगर भी शामिल हैं।

------------

प्रेमलता को छोड़कर किसी केंद्रीय मंत्री व सांसद के परिजन को नहीं मिला टिकट

भाजपा ने पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह की पत्नी व विधायक प्रेमलता को उचाना कलां से दोबारा टिकट देने के अलावा केंद्रीय मंत्री व सांसदों के परिजनों को टिकट नहीं दिया। पार्टी ने इस बाबत पहले ही नीतिगत फैसला कर लिया था। केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह, कृष्णपाल गुर्जर, रतन लाल कटारिया, धर्मबीर और रमेश कौशिक सहित कई सांसद भी अपने परिजनों के टिकट मांग रहे थे।

-------------

इनेलो से आए छह विधायकों को मिला टिकट

इंडियन नेशनल लोकदल के विभाजन के बाद जिन विधायकों ने भाजपा का दामन थामा था, उनमें से छह इनेलो विधायकों को टिकट मिला है। इनमें जुलाना से परमिंद्र सिंह ढुल, रानियां से रामचंद्र कंबोज, नलवा से रणबीर गंगवा, नूंह से जाकिर हुसैन, फिरोजपुर झिरका से नसीम अहमद और एनआइटी से नगेंद्र भड़ाना शामिल हैं। इसके अलावा हाल ही में भाजपा में शामिल हुए शिरोमणि अकाली दल से विधायक बलकौर सिंह को कालांवाली विधानसभा क्षेत्र से उम्मीदवार बनाया गया है। कांग्रेस के पूर्व विधायक विनोद भ्याना को हांसी और होडल से इनेलो के पूर्व विधायक जगदीश नायर को टिकट दिया गया है।

-----------

चारों निर्दलीय सहित दूसरों दलों से आए नौ विधायकों की अनदेखी

भाजपा ने पांच साल मनोहर सरकार को समर्थन करते आ रहे चारों निर्दलीय सहित दूसरे दलों से आए पांच विधायकों को भी टिकट नहीं दिया। निर्दलीयों में सफीदों से जसबीर देशवाल, समालखा से रविंद्र मछरौली, पुंडरी से दिनेश कौशिक, पुन्हाना से रहीशा खान सहित इनेलो के विधायक रतिया से रविंद्र बालियान, नरवाना से पिरथी नंबरदार, सिरसा से मक्खन लाल सिंगला, हथीन से केहर सिंह रावत, पृथला से टेकचंद शर्मा को टिकट नहीं दिया। इसके अलावा फतेहाबाद से इनेलो विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया के क्षेत्र से भी टिकट लंबित रखा गया है।

----------

घोषित किए गए प्रत्‍याशी-  

विधानसभा क्षेत्र प्रत्याशी का नाम
करनाल मनोहर लाल
टोहाना सुभाष बराला
कालका लतिका शर्मा
पंचकूला ज्ञान चंद गुप्ता
अंबाला कैंट अनिल विज
अंबाला सिटी असीम गोयल
मुलाना राजवीर बराला
सढौरा बलवंत सिंह
यमुनानगर धनश्याम दास अरोड़ा
रादौर कर्णदेव कंबोज
लाडवा पवन सैनी
शाहाबाद किशन बेदी
थानेसर सुभाष सुधा
पिहोवा सरदार संदीप सिंह
गुहला रवि तरनवाली
कलायत श्रीमती कमलेश ढांडा
कैथल लीला राम गुर्जर
पुंडरी वेदपाल एडवोकेट
नीलोखेड़ी भगवानदास कबीरपंथी
इंद्री रामकुमार कश्यप
घरौंदा हरविंदर कल्याण
असंध सरदार बख्शी सिंह विर्क
पानीपत ग्रामीण  महिपाल ढांडा
इसराना कृष्णलाल पंवार
समालखा शशिकांत कौशिक
राई मोहनलाल कौशिक
सोनीपत श्रीमती कविता जैन
गोहाना तीरथ सिंह राणा
बरोदा योगेश्वर दत्त
जुलाना परमिंदर ढुल
सफीदों बच्चन सिंह आर्य
जींद डॉ. कृष्ण मिड्ढा
उचाना श्रीमती प्रेमलता
नरवाना श्रीमती संतोष
रतिया लक्ष्मण नापा
कालांवाली बलकौर सिंह
डबवाली आदित्य देवी लाल
रानियां रामचंद्र कंबोज
सिरसा प्रदीप रत्तू सरिया
ऐलनाबाद पवन बेनीवाल
उकलाना श्रीमती आशा खेदर
नारनौंद कैप्टन अभिमन्यु
हांसी मनोज भ्‍याना
बरवाला सुरेंद्र पुनिया
हिसार डॉ. कमल गुप्ता
नलवा रणवीर गंगवा
लोहारू जेपी दलाल
बादरा सुखविंदर मंडी
दादरी बबीता फौगाट
भिवानी धनश्याम सर्राफ
बवानी खेड़ा विशंभर वाल्मीकि
गढ़ी सांपला किलोई सतीश नांदल
रोहतक मनीष ग्रोवर
कलानौर रामअवतार वाल्मीकी
बहादुरगढ़ नरेश कौशिक
बादली ओमप्रकाश धनखड़
झज्जर डॉ. राकेश कुमार
बेरी विक्रम कादियान
अटेली सीताराम यादव
महेंद्रगढ़ रामविलास शर्मा
नारनौल ओमप्रकाश यादव
नांगल चौधरी अभय सिंह यादव
बावल बनवारी लाल
पटौदी सत्यप्रकाश जरावत
बादशाहपुर मनीष यादव
सोहना संजय सिंह
नूंह जाकिर हुसैन
फिरोजपुर झिरका  नसीम अहमद
पुन्हाना नौक्क्षम चौधरी
हथीन प्रवीण डागर
होडल जगदीश नैय्यर
पृथला सोहनपाल छौक्कर
फरीदाबाद एनआइटी नागेंद्र भडाना
बड़खल श्रीमती सीमा त्रिखा
बल्लभगढ़ मूलचंद शर्मा
फरीदाबाद नरेंद्र गुप्ता
तिगांव राजेश नागर
जगाधरी कंवर पाल गुर्जर

 -----------------

इन 12 सीटों के लिए अभी प्रत्‍याशी घोषित नहीं किए गए हैं-

- नारायणगढ़ (अंबाला)

- पानीपत (शहरी)

- गन्‍नौर (सोनीपत)

- खरखौदा (सोनीपत)

- फतेहाबाद

- आदमपुर(हिसार)

- तोशाम (भिवानी)

- महम

- कोसली

- रेवाड़ी

- गुरुग्राम

- पलवल।

इससे पहले रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में पहले चरण के लिए 54 सीटों के लिए प्रत्याशियों के नाम पर मुहर लगाई गई। राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को बाकी सीटों पर प्रत्याशी घोषित करने के लिए अधिकृत कर दिया गया है।

सूत्रों के अनुसार बाकी सीटों में से कुछ पर पेंच फंसा है। उसको सुलझाने के बाद ही मुख्यमंत्री मनोहर लाल राष्ट्रीय अध्यक्ष को इसकी जानकारी देंगेे और संबंधित क्षेत्रों के प्रत्याशियों की सूची जारी हो जाएगी। बता दें कि रविवार शाम पांच बजे से आठ बजे तक भाजपा के केंद्रीय मुख्यालय में हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी प्रत्याशी तय करने को लेकर केंद्रीय चुनाव समिति की प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में बैठक शुरू हुई। इसमें पहले हरियाणा पर चर्चा हुई, उसके बाद महाराष्ट्र पर।  जहां तक हरियाणा के प्रत्याशियों की सूची की बात है तो संभावना है कि देर रात तक जारी हो जाए।

बैठक से निकलने के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल सीधे हरियाणा भवन पहुंचे। वहां उन्होंने केंद्रीय राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह और कृष्णपाल गुर्जर को तलब किया। गुर्जर अपने दिल्ली स्थित निवास 8 तुगलक लेन से सीएम का संदेश मिलते ही करीब दस मिनट में हरियाणा भवन पहुंच गए, जबकि राव इंद्रजीत सिंह नहीं पहुंचे। गुर्जर व सीएम के बीच एकांत में चर्चा होती रही। बताया जा रहा है कि सीएम ने गुर्जर के साथ घंटे भर विस्तृत चर्चा की। सूत्र बताते हैं कि गुर्जर को मुख्यमंत्री ने फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र की सभी नौ सीट पर महत्व देने का आश्वासन दिया गया है।

------------

बैठक से पहले भी मुख्यालय में हुआ विचार विमर्श

प्रधानमंत्री के साथ समिति की बैठक से पहले भी केंद्रीय मुख्यालय में मुख्यमंत्री मनोहर लाल, प्रदेश प्रभारी डॉ.अनिल जैन, चुनाव प्रभारी नरेंद्र सिंह तोमर, प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला के बीच करीब दो घंटे तक चर्चा हुई। सूत्रों के अनुसार इस बैठक में भी केंद्रीय मंत्रियों, सांसदों के परिजनों को टिकट दिए जाने के मुद्दे पर चर्चा हुई।

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस