नई दिल्ली, [बिजेंद्र बंसल]। Loksabha Election 2019 को लेकर हरियाणा कांग्रेस में टिकट के लिए खींचतान जारी है। इनमें दिग्‍गज नेता भी शामिल हैं, लेकिन इनकी चुनावी तकदीर का फैसला कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और हरियाणा प्रभारी गुलाम नबी आजाद की रिपोर्ट से तय होगा। आजाद छह दिन तक चली हरियाणा कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा पर जल्द हाईकमान को रिपोर्ट देंगे।

गुलाम नबी जल्द हाईकमान को देंगे छह दिवसीय परिवर्तन यात्रा की रिपोर्ट

यात्रा के दौरान आजाद कई जगह अपने मोबाइल से वीडियो बनाते और बस में बैठकर डायरी में सब कुछ लिखते रहे थे। दैनिक जागरण से बातचीत में उन्होंने कहा कि इस रिपोर्ट से राज्य के प्रत्येक कांग्रेस नेता का दमखम बता चल जाएगा। कोई प्रत्याशी लोकसभा चुनाव अकेले नहीं जीत सकता। इसके लिए विभिन्न विधानसभाओं में मजबूत नेताओं को प्रचार प्रबंधन संभालना होगा। आजाद के अनुसार राज्य में पार्टी का मजबूत कॉडर है। यह कॉडर परिवर्तन यात्रा के बाद खड़ा हो गया है। अब इसे संभालने की जरूरत है।

दिग्गज नेताओं के कद के साथ विधानसभा के लिए भी तय हो जाएगा बहुत कुछ

आजाद बताते हैं कि किसी भी चुनाव में यदि प्रबंधन का काम जमीनी की बजाए हवा-हवाई नेता के जिम्मे दे दिया जाता है तो इसके गलत परिणाम सामने आते हैं। चूंकि लोकसभा चुनाव सिर पर हैं इसलिए यात्रा के दौरान ही यह सब कार्य अपनी टीम के माध्यम से करवाया।

गुलाम नबी आजाद ने परिवर्तन यात्रा के दौरान सबकुछ नजदीक से देखा। उन्होंने दमखम के आधार पर ही पांच लोकसभा क्षेत्रों में प्रत्याशी एक तरह से घोषित कर दिए। अंबाला से कुमारी सैलजा, सिरसा से डॉ. अशोक तंवर, रोहतक से दीपेंद्र हुड्डा, भिवानी-महेंद्रगढ़ से श्रुति चौधरी और कुरुक्षेत्र से नवीन जिंदल को उन्होंने पार्टी की अधिकृत सूची आने से पहले ही सार्वजनिक तौर पर प्रत्याशी के रूप में पेश किया।

यात्रा के समापन मौके पर उन्होंने बडख़ल, पुराना फरीदाबाद, बल्लभगढ़ सहित पृथला क्षेत्र में विधानसभा के भी संभावित प्रत्याशी बता दिए। उन्होंने पूर्व विधायक रघुबीर तेवतिया की सभा में यहां तक कह दिया कि कोई पागल ही तेवतिया का टिकट काटेगा।

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप