अहमदाबाद, जेएनएन। मुख्यमंत्री विजय रुपाणी को सेबी के नोटिस के संबंध में भाजपा ने कहा है कि बुधवार को ही ट्रीब्यूनल ने इसे रद्द कर दिया था, कांग्रेस नेता राहुल गांधी का आरोप बेबुनियाद व सत्य से विपरीत है। रूपाणी ने सुई की नोंक के बराबर भी गलत नहीं किया।

गुजरात भाजपा के प्रवक्ता भरत पंडया ने कहा है कि कांग्रेस झूठे मुद्दे उठाकर बेबुनियाद आरोप लगा रही है, सेबी के जिस नोटिस को लेकर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी आरोप लगा रहे हैं उस नोटिस को सेबी ट्रीब्यूनल ने बुधवार को ही खारिज कर दिया।

मुख्यमंत्री रुपाणी ने सारंग केमिकल्स के साथ जो लेन देन किया वह कुल लेन देन का महज 0,1 प्रतिशत है, सट्टा द्वारा कोई ज्यादा नफा नहीं कमाया। रुपाणी ने 2009 में 63 हजार के शेयर खरीदे थे जिन्हें 2011 में 35 हजार रु में बेच दिए, इस सौदे में 28 हजार रु का नुकसान हुआ उक्त लेन देन को शेयर के नफा व नुकसान से कोई लेना देना नहीं है।

इसमें सेबी के निर्देश का कोई उल्लंघन हुआ नहीं तथा कुछ भी गैरकानूनी नहीं है। छह साल बाद एक अधिकारी 22 फर्म से बिना उनका पक्ष सुने सीधे नोटिस जारी कर देता है, पेनल्टी का यह नोटिस एकतरफा आदेश था जिसे एक फर्म ने ट्रीब्यूनल में कानूनी चुनौती दी। यह नोटिस कानूनी तौर पर गलत व एकतरफा था जिसे एक दिन पहले ही सेबी के ट्रीब्यूनल ने रदद कर दिया।

यह भी पढ़ें: गुजरात की बाजी: युवा नेताओं के जातिवादी बोल से युवाओं का मोहभंग, विकास को मिली तरजीह

Posted By: Abhishek Pratap Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस