नई दिल्ली [निहाल सिंह]। हरियाणा में जन्में अरविंद केजरीवाल इस समय दिल्ली को अपनी कर्मभूमि बनाकर कार्य कर रहे हैं। सूचना के अधिकार से लेकर राशन माफिया के खिलाफ आंदोलन कर उन्होंने सामाजिक कार्यकर्ता के तौर पर अपनी पहचान बनाई। आइआरएस अधिकारी भी रहे हैं, लेकिन उन्होंने इस्तीफा दे दिया था। 2006 में उन्हें रमन मैग्सेसे सम्मान मिला। भ्रष्टाचार के खिलाफ समाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे के आंदोलन के यह प्रमुख चेहरा रहे।

व्यवस्था परिवर्तन के लिए आंदोलन से अरविंद केजरीवाल ने वर्ष 2012 में आम आदमी पार्टी (आप) का गठन किया। वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव में उतरे अरविंद केजरीवाल न केवल 15 साल मुख्यमंत्री रही शीला दीक्षित को नई दिल्ली विधानसभा क्षेत्र से चुनावी शिकस्त दी। बल्कि वह मुख्यमंत्री भी बन गए। 28 सीटों वाली आप ने कांग्रेस के आठ विधायकों के समर्थन से सरकार बनाई, लेकिन केजरीवाल ने 49 दिन बाद इस्तीफा दे दिया। वह वाराणसी लोकसभा क्षेत्र से वर्ष 2014 में भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़े लेकिन जीत नहीं पाए। 2015 में हुए विधानसभा चुनाव में अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में आप ऐतिहासिक जीत दर्ज करते हुए 70 में 67 सीटें जीती। केजरीवाल फिर से मुख्यमंत्री बने।

अरविंद केजरीवाल की उपलब्धियां

- इलाके में 4000 हजार सीसीटीवी लगवाए गए

- तीन हजार एलईडी स्ट्रीट लाइट और 25 हाईमॉस्क लगवाई गई

- सभी झुग्गी बस्तियों में खरंजे से लेकर पानी, सीवर लाइट के खंभे की व्यवस्था की

- गोल मार्केट में 50 साल से खारा पानी की समस्या है थी।इसके लिए जल संशोधन यंत्र लगवाया।

- 50 पार्कों में बच्चों के खेलने के लिए झूले लगवाएं

- चार मैकनेकिल स्वीपर से इलाके में सफाई होती है

- छह मोबाइल मोहल्ला क्लीनिक चलाए जा रहे है।

- गीले कचरे से खाद बनाने के लिए चार स्थानों पर कंपोस्ट प्लांट लगाए गए हैं

- अंडरग्राउंड कचरे के स्मार्ट कूड़ेदान लगाए हैं

- 35 से ज्यादा पार्कों में गजिबों बनवाए हैं

- झुग्गी बस्तियों में जहां-जहां पर बिजली व पानी के कनेक्शन नहीं थे वहां पर पानी के कनेक्शन दिलवाए

- धोबी घाटों की मरम्मत करवाई। शैड ठीक कराए। बकाया बिजली पानी के बिल माफ किए।

- NDMC के 5500 कर्मचारियों को स्थाई करने के लिए एनडीएमसी काउंसिल से प्रस्ताव पारित करा गृह मंत्रालय भेजा। साथ ही सभी कर्मचारियों को सातवें वेतन आयोग का लाभ दिलवाया। कैशलेस इलाज की व्यवस्था की।

- सोसाइटियों में सुरक्षा के लिए गेट लगवाए।

- 25 खेल बैटमिंटन खेलने के लिए कोर्ट की व्यवस्था की

- 30 वाई हॉट स्पाट लगाए

- एनडीएमसी में विधायक और सांसद की तर्ज पर 10 करोड़ के सीटीजन फंड की व्यवस्था की

दावों का पोस्टमार्टम

पिछले विधानसभा चुनाव में भाजपा की प्रत्याशी रहीं नुपुर शर्मा ने मुख्यमंत्री केजरीवाल के दावों को खारिज किया है। उनका कहना है कि बतौर विधायक केजरीवाल ने क्षेत्र के लिए कुछ नहीं किया। वह दावे तो बड़े-बड़े करते हैं लेकिन उनकी जमीनी हकीकत कुछ और ही है। क्षेत्र की जनता मूलभूत सुविधाओं के लिए भी परेशान है।

जनता ने कहा ऐसे हो हमारे विधायक

- जो क्षेत्र की हर समस्या से परिचित हो

- हर समस्या को समझे और उसका समयबद्ध तरीके से समाधान हो

- जनता के लिए हमेशा खड़ा रहने वाला हो और उससे मिलना आसान हो

- बिना किसी भेदभाव के हर क्षेत्र में विकास करें

नई दिल्ली विधानसभा क्षेत्र में जनता की राय

- गोल मार्केट निवासी कमल सिंह बताते हैं कि पार्किंग की समस्या को सुलझाया गया है, जिससे लोगों को पार्किंग की समस्या से छुटकारा मिला है। सड़कों पर घूमने वाले कुत्तों से दिक्कत होती है। साथ ही नशा करने वाले लोग भी सड़क किनारे बैठे रहते हैं। जिनसे गंदगी भी होती है। अगर इन्हें हटा दिया जाए तो और अच्छा हो जाएगा।

- पेश्वा मार्ग निवासी राजकुमार गुप्ता बताते हैं, इलाके में कचरे की समस्या हल हुई है। पहले बदबू की वजह से बहुत दिक्कत होती थी। पार्किंग की समस्या का निराकरण भी हुआ है। जिससे जाम की स्थिति में भी सुधार हुआ है। जिससे इलाके की सुदंरता बड़ी है। हमने जो-जो समस्याएं विधायक कार्यालय में बताई वह-वह ठीक हुई।

- भगत सिंह मार्ग के रहने वाले नीरज कहते हैं, विधायक सिर्फ फ्री बिजली पानी बांटने के शेर हैं। काम करने के मामले में कहते हैं कि मेरे हाथ में कुछ नहीं है। बेतुकी नीतियों की वजह से परेशानी होती है। कारोबार भी पूरी तरह से ठप्प है। साथ ही गंदे पानी की भी समस्या है। जिसकी वजह से लोग परेशान हैं।

- डॉक्टर लेन पर रहने वाले विजय गुप्ता के अनुसार, पहले स्थानीय निकाय ने बहुत परेशान कर रखा था। कचरा साफ नहीं होता था। पिछले पांच सालों में सारी समस्याएं हल हो गई है। बिजली पानी के दामों में भी फर्क आया है। सड़को पर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं तो अब आपराधिक घटनाओं में भी कमी आई है। साथ ही लोग अब पहले से ज्यादा सुरक्षित महसूस करते हैं।

Posted By: Amit Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस