नई दिल्‍ली, जेएनएन। दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री केजरीवाल ने गृहमंत्री अमित शाह के दिल्‍ली के सरकारी स्‍कूलों की स्थिति पर जारी वीडियो को फर्जी बताया है। केजरीवाल ने कहा कि भाजपा नेता व केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है दिल्ली के सरकारी स्कूलों की दशा खराब है। उन्होंने अपने आठ सांसदों के सोमवार को किए गए दौरों का हवाला दिया है। केजरीवाल ने कहा कि अमित शाह के सांसदों ने झूठी रिपोर्ट बनाई है। केजरीवाल ने कहा कि 5 साल पहले जब हमारी सरकार बनी थी, तब दिल्ली के स्कूलों का बुरा हाल था। जनता के साथ मिलकर हम लोगों ने शिक्षा का पूरा ढांचा बदल दिया है। मगर मुझे बहुत दुख हुआ, जब अमित शाह ने दिल्ली के लोगों का मज़ाक बनाया।

केजरीवाल ने कहा, 'आज शाह जी के लोगों को 1024 स्कूलों में से आठ स्कूलों में कमियां मिली हैं। मगर उन्होंने जो कमियां बताई हैं, वे भी फर्जी हैं। इस मामले में सांसद गौतम गंभीर ने एक वीडियो दिखाया कि स्कूल कितना बदहाल है। उन्‍होंने जिस स्कूल को दिखाया, वह खाली पड़ा है, जबकि 9 अक्टूबर से स्थानांतरित हो गया है। इमारत के गेट पर सार्वजनिक सूचना लगी है। दूसरा वीडियो सांसद प्रवेश वर्मा का है। इसमें उन्होंने पुरानी इमारत दिखाई है और नई इमारत नही दिखाई है। रमेश बिधूड़ी ने दक्षिणी दिल्ली के एक स्कूल को लेकर ट्वीट किया। उन्होंने उस स्कूल को दिखाया, जिनका निर्माण चल रहा है। इसी तरह हंसराज हंस आदि सांसदों ने भी इसी तरह की फर्जी रिपोर्ट बनाई हैं।'

इससे पहले अमित शाह ने अपने हालिया ट्वीट में दिल्‍ली में सरकारी स्‍कूल की स्थिति को लेकर केजरीवाल सरकार के दावों पर सवालिया निशान लगाया था। दरअसल, आम आदमी पार्टी यह दावा करती है कि उन्‍होंने दिल्‍ली की शिक्षा व्‍यवस्‍था और सरकारी स्‍कूलों पर काफी काम किया है। इसलिए अमित शाह को कुछ दिन पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के सरकारी स्कूल देखने का न्‍योता भी दिया था। अब इसके जवाब में अमित शाह ने एक वीडियो ट्वीट किया है। इस ट्वीट में अमित शाह ने लिखा है, 'अरविंद केजरीवाल जी आपने मुझे दिल्ली सरकार द्वारा संचालित स्कूल देखने के लिए बुलाया था। कल दिल्ली बीजेपी के आठों सांसद अलग-अलग स्कूल में गए और देखिए इनका क्या हाल है... इनकी बदहाली ने आपकी शिक्षा की क्रांति के दावों की पोल खोल दी। अब आपको दिल्ली की जनता को जवाब देना होगा।'

अमित शाह द्वारा ट्वीट किए गए वीडियो में मनोज तिवारी, डॉ हर्ष वर्धन, विजय गोयल, प्रवेश साहिब सिंह वर्मा, रमेश विधूड़ी, मीनाक्षी लेखी, गौतम गंभीर, हंसराज हंस अलग-अलग स्‍कूलों का जायजा लेते नजर आ रहे हैं। वीडियो में इन स्‍कूल के बच्‍चों के भी बयान शामिल किए गए हैं। वीडियो में जो स्‍कूल दिखाए गए हैं, उनकी स्थिति वाकई दयनीय है। हालांकि, केजरीवाल अब वीडियो के दावे को फर्जी करार दिया है। वैसे बता दें कि आरोप-प्रत्‍यारोप का ये दौर अभी थमने वाला नहीं दिख रहा है।

गौरतलब है कि दिल्‍ली की 70 विधानसभा सीटों पर 8 फरवरी का मतदान होने जा रहा है। 11 फरवरी को मतगणना है। हर पार्टी ये दावा कर रही है कि इस बार दिल्‍ली में उनकी सरकार बनने जा रही है। हालांकि, जनता का मूड क्‍या है यह 11 फरवरी को परिणाम आने के बाद ही पता चलेगा।

भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा का विवादित बयान

दिल्‍ली में चुनाव प्रचार के बीच पश्चिमी दिल्ली से भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा एक विवादित बयान देकर चर्चा में आ गए हैं। अब उन्होंने कहा है- जब दिल्ली में मेरी (भाजपा) सरकार बनेगी, तब 11 फरवरी के बाद एक महीने के भीतर मेरी लोकसभा में जितनी मस्जिद सरकारी जमीन पर बनी हैं, उनमें से एक भी मस्जिद नहीं छोड़ूंगा। सारी मस्जिद हटा दूंगा। हालांकि, यह पहला मौका नहीं है, जब प्रवेश वर्मा ने सरकारी जमीनों पर बनी मस्जिदों को हटाने की बात कही है। इससे पहले भी वह इस बात को दोहरा चुके हैं।

ये भी पढ़ेंः Delhi Election 2020 : चुनाव में सिर्फ 10 दिन शेष, प्रचार से गायब क्यों हैं कांग्रेस के स्टार प्रचारक?

 

Posted By: Tilak Raj

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस