नई दिल्ली [सुशील गंभीर]। Delhi Assembly Election 2020 : दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 के मद्देनजर  राजनीतिक दलों में एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला तेज हो गया है। ताजा कड़ी में बुधवार को दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia, Deputy Chief Minister of Delhi ) ने सरकारी स्कूलों में कमरों के निर्माण को लेकर गड़बड़ी का आरोप लगाने पर भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी (Delhi BJP cheif) और अन्य कई नेताओं के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कराया है। यह पहला मौका है जब शांत स्वभाव के लिए जाने जाने वाले मनीष सिसोदिया ने इतना बड़ा कदम उठाया है। 

यहां पर बता दें कि दिल्ली भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कुछ महीने पहले बाकायदा पत्रकार वार्ता कर यह दावा किया था कि दिल्ली के सरकारी स्कूलों में क्लासरूम बनवाने में 2000 करोड़ रुपये का घोटाला हुआ है। 

यह अलग बात है कि इस पर प्रतिक्रिया देते हुए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने पलटवार भी किया था कि यह आरोप गलत है और ऐसा है तो मनोज तिवारी यह साबित करके दिखाएं।

इसी के साथ दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने भी आरोपों को नकारते हुए यह सब गलतबयानबाजी है। 

दरअसल, मनोज तिवारी ने पत्रकार वार्ता में दावा किया था कि आम आदमी पार्टी सरकार ने 12,782 क्लासरूम बनवाने के लिए 2,892 करोड़ रुपये खर्च किए। ऐसे में इसके लिए ज्यादा से ज्यादा 800 करोड़ खर्च होने चाहिए थे, जबकि खर्च हुए हैं 12000 करोड़ रुपये। यह आरोप एक आरटीआइ के आधार पर लगाए गए थे, जिसे दिल्ली के भाजपा प्रवक्ता हरीश खुराना ने हासिल की थी। 

यहां पर बता दें कि दिल्ली में पिछले चार साल से सत्तासीन आम आदमी पार्टी सरकार सरकारी स्कूलों का कायाकलप करने का दावा करते हुए अपनी पीठ ठोक रही है, तो वहीं, मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी घोटाले के आरोप लगा रही है। 

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक 

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस