नई दिल्ली, ऑन लाइन डेस्क। दिल्ली में प्याज की बढ़ी कीमतों के खिलाफ प्रदेश कांग्रेस ने केजरीवाल सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा और महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष शर्मिष्ठा मुखर्जी के नेतृत्व में बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ताओं ने विधानसभा के बाहर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन कर रहे सभी प्रमुख नेताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।

जानकारी के मुताबिक कांग्रेस कार्यकर्ता प्याज की माला पहनकर प्रदर्शन किया। नेताओं ने राज्य और केंद्र सरकार पर जमाखोरों की मदद करने का आरोप लगाया। 

बताया जा रहा है कि धरने पर बैठे कांग्रेस नेताओं को पुलिस ने जबरन उठा दिया और अपने साथ ले गई। प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने केंद्र और केजरीवाल सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की। इससे पहले अभी हाल में ही युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्याज की माला पहनकर प्रदर्शन किया था। 

केंद्र ने दाम बढ़ाने के लिए बंद की प्याज की आपूर्ति : सिसोदिया

उधर, दिल्ली सरकार ने प्याज की आपूर्ति रोकने का केंद्र पर आरोप लगाया है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि जानबूझकर कर दाम बढ़ाने के लिए प्याज की आपूर्ति बंद की गई, जिससे दिल्ली सरकार सस्ते दामों पर प्याज न बांट सके। सिसोदिया ने कहा कि केंद्र ने पत्र लिखकर 56 हजार मीट्रिक टन प्याज स्टॉक में होने की बात कही थी। यह पत्र 5 सितंबर को लिखा गया था, फिर अचानक दिल्ली को आपूर्ति क्यों रोक दी गई? उपमुख्यमंत्री ने फिर मांग की है कि हर दिन दस गाड़ी प्याज दिया जाए, जिससे हम आम जनता को 23.90 रुपये किलो में प्याज उपलब्ध करी जा सके।

सिसोदिया ने कहा दिल्ली में प्याज को लेकर लोग दुखी हैं। केंद्र को पत्र लिखकर बताया गया था कि हम रोजाना 10 गाड़ी प्याज लेकर सस्ते दाम पर लोगों को देंगे, जिससे प्याज की कालाबाजारी करने वालों पर लगाम लगी जा सके। हमने केंद्र सरकार से 9 दिसंबर तक 2.5 लाख किलो प्याज के लिए अनुमति मांगी थी लेकिन कभी भी हमें 10 गाड़ी प्याज की आपूर्ति नहीं हुई। हमें अधिकतम 5 गाड़ी प्याज मिला। केंद्र प्याज सड़ाने को तैयार है, लेकिन दिल्ली को नहीं देना चाहती।

केंद्र खुद चाहता है दिल्ली में बढ़े प्याज के दाम: इमरान हुसैन

खाद्य आपूर्ति मंत्री इमरान हुसैन ने कहा कि केंद्र चाहता है कि दिल्ली में प्याज के दाम बढ़ जाएं और यहां की जनता परेशान हो। हमने प्याज की मांग की, लेकिन उस पर कोई जवाब नहीं आया। 24 नवंबर को प्याज की आखिरी गाड़ी दिल्ली आई थी, जिसमें 13-14 हजार किलो ही प्याज था। उसके बाद प्याज नहीं आ रहा। मैंने केंद्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान से मिलने का समय मांगा, अभी तक उन्होंने समय नहीं दिया है।

 

2012 Nirbhaya Case: फांसी की सजा पाये विनय की दया याचिका खारिज करने की सिफारिश

 दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरों को पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: Mangal Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप