नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। 2019 लोकसभा चुनाव में मतदाता फीसद 2014 के चुनाव से भी कम था, इससे जिला प्रशासन काफी चिंतित है। इस बात को ध्यान में रखकर विधानसभा चुनाव के लिए उन पोलिंग स्टेशन पर विशेष जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं, जहां मतदान 50 फीसद से कम हो। दक्षिणी-पश्चिमी जिले में विकासपुरी विधानसभा क्षेत्र ऐसा है, जिसके 25 पोलिंग स्टेशन पर मतदान फीसद कम रहा। ऐसे में जिला प्रशासन ने इन पोलिंग स्टेशन को चिन्हित कर यहां नुक्कड़ नाटक व तरह-तरह के जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने शुरू कर दिए हैं।

दक्षिणी-पश्चिमी जिले में 60 पोलिंग स्‍टेशनों पर कम था वोटिंग प्रतिशत

जिला प्रशासन के मुताबिक, दक्षिणी-पश्चिमी जिले में कुल 60 पोलिंग स्टेशन ऐसे हैं, जहां मतदान फीसद कम है। विकासपुरी विधानसभा क्षेत्र में 25, उत्तम नगर विधानसभा क्षेत्र में दो, द्वारका विधानसभा क्षेत्र में एक, मटियाला विधानसभा क्षेत्र में आठ, नजफगढ़ विधानसभा क्षेत्र में 11, बिजवासन विधानसभा क्षेत्र में आठ व पालम विधानसभा में पांच पोलिंग स्टेशन को चिन्हित किया गया। इन सभी पोलिंग स्टेशन पर जागरूकता कार्यक्रम शुरू कर दिए गए हैं।  आने वाले दिनों में यहां चुनावी पाठशाला आयोजित की जाएगी, ताकि हर मतदाता इससे जुड़ें और अपने मताधिकार का प्रयोग करने को जागरूक हों। लोगों को जागरूक करने के लिए बैनर लगाए गए हैं। इसके अलावा ई-रिक्शा गली-मोहल्लों में घूम-घूमकर लोगों को जागरूक करने में जुटे हैं।

आज थर्ड जेंडर के लिए विशेष शिविर

विधानसभा चुनाव में थर्ड जेंडर वर्ग के लोग भी बढ़-चढ़कर हिस्सा ले, इसके लिए जरूरी है कि वे मतदाता सूची से जुड़े। दक्षिणी-पश्चिमी जिला प्रशासन की ओर से कापसहेड़ा स्थित मुख्यालय पर कैंप का आयोजन किया जाएगा। हालांकि सातों विधानसभा क्षेत्रों में जहां भी थर्ड जेंडर की जनसंख्या अधिक है, वहां भी प्रशासन की ओर से कैंप आयोजित किए जाएंगे।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस