नई दिल्ली [संतोष कुमार सिंह]। Delhi Election 2020 : भाजपा अधिकतर विधानसभा क्षेत्रों में नए लड़ाकों के साथ चुनाव में उतरने की तैयारी कर रही है। पिछले लगभग एक सप्ताह से प्रत्याशी चयन को लेकर मंथन चल रहा है। रविवार व सोमवार को दिल्ली के नेताओं के साथ पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह व कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी मैराथन बैठक की।

इसमें लगभग सभी सीटों पर उम्मीदवारों के नाम पर चर्चा हुई और आधे से ज्यादा पर सहमति भी बन गई है, लेकिन अभी इनके नाम घोषित नहीं किए गए हैं। 16 जनवरी को होने वाली केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में प्रत्याशियों के नाम पर अंतिम मुहर लगने की उम्मीद जताई जा रही है।

विधानसभा क्षेत्रों में वरिष्ठ कार्यकर्ताओं के बीच रायशुमारी के बाद केंद्रीय नेतृत्व प्रत्याशियों की सूची को अंतिम रूप देने में जुटा है। योग्य प्रत्याशियों को मैदान में उतारा जाए इसके लिए शाह खुद एक-एक सीट की समीक्षा कर रहे हैं। प्रत्येक सीट के चुनावी समीकरण, पिछले चुनावों में भाजपा का प्रदर्शन, पुराने नेताओं के चुनावी इतिहास और नए दावेदारों की योग्यता की पड़ताल की जा रही है। इसके लिए उन्होंने रविवार रात को लगभग सात घंटे तक दिल्ली व यहां की जिम्मेदारी संभाल रहे केंद्रीय नेताओं के साथ बैठक की। बैठक का यह दौर सोमवार को भी जारी रहा।

2015 में खराब प्रदर्शन करने वालों को नहीं मिलेगा टिकट

पार्टी के नेताओं का कहना है कि लगभग 40 सीटों पर प्रत्याशियों के नाम फाइनल कर लिए गए हैं। वर्ष 2015 में चुनाव मैदान में पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ने वाले कई नेताओं को भी इस बार टिकट नहीं देने का फैसला किया गया है। पिछले चुनाव में पार्टी को सिर्फ तीन सीटों पर जीत मिली थी। उम्मीद है कि इन तीनों विधायकों को एकबार फिर से मैदान में उतारा जाए, लेकिन जिनकी हार का अंतर बहुत ज्यादा था, उनकी जगह नए चेहरों पर दांव लगाने का फैसला किया गया है।

सोमवार को नहीं हो सकी केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक

लोहड़ी के दिन केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक होने की बात कही जा रही थी, लेकिन सभी सीटों पर प्रत्याशियों को लेकर आम राय नहीं बनने से इसे टाल दिया गया है। अब 16 जनवरी को बैठक होगी। तबतक सभी सीटों पर प्रत्याशी के नाम फाइनल कर लिए जाने की उम्मीद है।

टिकट की दौड़ में शामिल हैं ये नेता

दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता को पार्टी एक बार फिर से रोहिणी से उतार सकती है। इसके साथ ही मालवीय नगर से पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सतीश उपाध्याय, जनकपुरी से पूर्व प्रदेश महामंत्री आशीष सूद, शालीमार बाग से पूर्व प्रदेश महामंत्री रेखा गुप्ता, किराड़ी से पूर्व विधायक अनिल झा, राजेंद्र नगर से राष्ट्रीय मंत्री आरपी सिंह और प्रदेश महामंत्री राजेश भाटिया, सदर बाजार से प्रदेश महामंत्री रविंद्र गुप्ता व उत्तरी दिल्ली नगर निगम स्थायी समिति के अध्यक्ष जयप्रकाश, मोती नगर से पूर्व विधायक सुभाष सचदेवा, प्रदेश प्रवक्ता हरीश खुराना व करोलबाग जिला अध्यक्ष भारत भूषण मदान, करावल नगर से पूर्व विधायक कपिल मिश्र व मोहन सिंह बिष्ट दौड़ में शामिल हैं। इसके साथ ही कांग्रेस से भाजपा में आने वाले पूर्व मंत्री राजकुमार चौहान, आम आदमी पार्टी से हाल ही में वापस भाजपा में आने वाले गुग्गन सिंह भी टिकट की दौड़ में हैं।

ये भी पढ़ेंः  Delhi Election 2020 : कांग्रेस के दिग्गज नेता भी लड़ेंगे चुनाव, जल्द जारी होगी उम्मीदवारों की सूची

Delhi Election 2020 : कई AAP विधायकों को सता रहा टिकट कटने का डर, ये है बड़ी वजह

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस