नई दिल्ली। Delhi Election 2020: दिल्ली में विधानसभा चुनाव में परचम फहराने के लिए सभी पार्टियां जोर लगा रही हैं। भाजपा के दिग्गज भी चुनाव प्रचार के लिए मैदान में कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री व राज्यसभा सदस्य विजय गोयल भाजपा के लिए रचनात्मक चुनाव प्रचार अभियान चलाने की रणनीति बना रहे हैं। दिल्ली के चुनावी मुद्दे, शाहीन बाग में प्रदर्शन और भाजपा की रणनीति पर विजय गोयल से संतोष कुमार सिंह ने विस्तार से बातचीत की। पेश हैं बातचीत के मुख्य अंश: 

इस बार विधानसभा चुनाव का मुख्य मुद्दा क्या है?

प्रत्येक चुनाव में सत्ता पर काबिज पार्टी की सरकार के कामकाज का आकलन होता है। आम आदमी पार्टी (आप) ने पिछले चुनाव में 70 वादे किए थे। अर्रंवद केजरीवाल की सरकार ने एक भी वादा पूरा नहीं किया और यही इस चुनाव में मुद्दा होगा। स्वास्थ्य, शिक्षा, बिजली, स्वच्छ पानी सहित अन्य घोषणाओं को पूरा करने में सरकार विफल रही है। भाजपा अपने संकल्प पत्र के साथ दिल्ली के विकास का रोडमैप लेकर लोगों के बीच पहुंचेगी।

शाहीन बाग इस चुनाव पर कितना असर डालेगा?

शाहीन बाग भी बड़ा मुद्दा इसलिए  रहेगा क्योंकि यह दिल्ली की सुरक्षा और शांति से जुड़ा हुआ है। लोगों को लगता है कि आप व कांग्रेस एक वर्ग विशेष को भड़काकर दिल्ली की शांति व सुरक्षा को भंग कर रही है। जाहिर तौर पर दिल्ली के लोगों को इस तरह की पार्टी सत्ता में नहीं चाहिए।

अदालत के आदेश के बावजूद दिल्ली पुलिस प्रदर्शनकारियों को क्यों नहीं हटा रही है?

दिल्ली पुलिस विवेक का इस्तेमाल कर रही है। दोनों पार्टियां चुनावी लाभ के लिए दंगा कराने की साजिश रच रही हैं।

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर दिल्ली में अन्य स्थानों पर भी धरने शुरू हो गए हैं। इससे भाजपा की चुनावी परेशानी नहीं बढ़ेगी?

भाजपा के लिए नहीं यह देश के लिए परेशानी है और देश इन लोगों को माफ नहीं करेगा। आप व कांग्रेस के नेता एक वर्ग को गुमराह करके दिल्ली के रास्ते बंद करा रहे हैं, जिससे लोग परेशान हैं। राजधानी में अराजकता की स्थिति पैदा की जा रही है। विरोध-प्रदर्शन के नाम पर 80 फीसद लोगों की आवाज दबाने की कोशिश हो रही है।

क्या स्थानीय मुद्दों की कमी हो गई है कि शाहीन बाग को तूल दिया जा रहा है?

ऐसा नहीं है। आप सरकार की विफलता को भी हम उठा रहे हैं। वायु प्रदूषण, घरों में दूषित जल आपूर्ति, बदहाल सार्वजनिक परिवहन, महिला सुरक्षा इस चुनाव में बड़े मुद्दे हैं। भाजपा नेता व कार्यकर्ता इन मुद्दों को लेकर घर-घर पहुंच रहे हैं। लोगों को केजरीवाल सरकार की सच्चाई बताई जा रही है। झुग्गी बस्तियों में लोग बदहाली  में जीवन गुजारने को मजबूर हैं। केजरीवाल मुफ्त पानी की बात कर रहे हैं, लेकिन झुग्गियों में लोगों को पानी नहीं मिल रहा है।

आप नेताओं का आरोप है कि भाजपा के पास कोई मुद्दा नहीं है, इसलिए हिंदू मुस्लिम, भारत-पाकिस्तान और शाहीन बाग की बात कर रहे हैं। इसमें कितनी सच्चाई है?

शाहीन बाग का धरना किसने दिया? मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ट्वीट करके लोगों को आंदोलन करने के लिए कहते हैं। लोगों को भड़काने और पुलिस को बदनाम करने के लिए उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया फर्जी वीडियो ट्वीट करते हैं। आप विधायक अमानतुल्ला खान, आसिफ मुहम्मद खान और हाजी इशराक किस पार्टी के नेता हैं सभी जानते हैं। हम लोगों को सच्चाई बता रहे हैं और आप व कांग्रेस के नेता भड़का रहे हैं।

केजरीवाल गारंटी कार्ड देकर सत्ता में वापसी पर दस काम पूरा करने की बात कर रहे हैं। आप का क्या कहना है?

केजरीवाल की गारंटी कौन लेगा? उन्होंने लोगों से वादा किया था कि आप का कोई भी विधायक व मंत्री गाड़ी-बंगला नहीं लेगा। बच्चों की कसम खाकर कहे थे कि कांग्रेस के साथ समझौता नहीं करेंगे। हकीकत सभी के सामने है। उन्होंने गाड़ी- बंगला भी लिया और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार भी बनाई। अब लोगों को उनके वादों पर विश्वास नहीं है। ’पिछले चुनाव में भाजपा तीन सीट पर सिमट गई थी। पांच सालों में क्या अंतर आया है कि भाजपा सत्ता में वापसी की बात कर रही है। पिछली बार दिल्ली के लोगों ने केजरीवाल के झूठे वादों पर विश्वास कर लिया था। अब सच्चाई सभी के सामने है, इसलिए वह पिछले विधानसभा चुनाव के बाद एक भी चुनाव नहीं जीत सके हैं। इस बार भी उनकी हार निश्चित है।

आखिर आपको झुग्गियों में क्यों प्रवास करना पड़ रहा है?

झुग्गी बस्तियों में समस्याओं की भरमार है। इन बस्तियों में रहने वालों ने उम्मीद के साथ आम आदमी पार्टी को पिछले चुनाव में समर्थन दिया था, लेकिन उन्हें धोखा मिला। इनकी समस्या जानने के लिए मैं पिछले कई दिनों से झुग्गियों में रात गुजार रहा हूं। लोगों से बात करके समस्या जानने के साथ ही नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा गरीबों के कल्याण के लिए शुरू की गई योजनाओं की जानकारी दे रहा हूं।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस