नई दिल्ली जेएनएन। Delhi Assembly Election: दिल्ली में विधानसभा चुनाव कराने के लिए चुनाव आयोग ने तैयारियां तेज कर दी हैं। चुनाव आयोग जनवरी में नोटीफिकेशन जारी कर सकता है, जबकि फरवरी में चुनाव कराए जाने की संभावना जताई जा रही है। माना जा रहा है कि नोटीफिकेशन जारी करने से पहले ही मतदाता सत्याापन कार्य को भी पूरा कर लिया जाएगा।

हरियाणा के साथ नहीं होंगे दिल्ली के चुनाव

दिल्ली चुनाव आयोग कार्यालय के सूत्रों के मुताबिक दिल्ली के विधानसभा चुनाव अगले साल फरवरी में कराए जा सकते हैं। वहीं, चुनाव के नोटीफिकेशन जनवरी में ही जारी कर दिए जाएंगे। जानकारों का मानना है कि चुनाव आयोग की इन तैयारियों से साफ हो गया है कि इसी साल होने वाले हरियाणा विधानसभा चुनाव के साथ दिल्लीर के चुनाव नहीं कराए जाएंगे।

दिसंबर में समरी रिवीजन और मतदाता सत्यापन कार्यक्रम

सूत्रों के मुताबिक आयोग ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए तैयार किए गए खाके में मतदाता सत्यापन कार्यक्रम को इसी साल यानी दिसंबर 2019 में ही पूरा कर लेने की योजना बनाई है। इसके अलावा चुनाव के समरी रिवीजन को भी दिसंबर या फिर जनवरी के शुरुआत में ही पूरा कर लेने के संकेत भी मिल रहे हैं। ऐसे में यह साफ होता दिख रहा है कि दिल्ली विधानसभा के लिए चुनाव फरवरी में संपन्न हो सकते हैं।

फरवरी में पूरा होगा केजरीवाल सरकार का कार्यकाल

गौरतलब है कि अरविंद केजरीवाल का कार्यकाल अगले साल फरवरी 2020 में पूरा होने वाला है। पिछले दिल्ली विधानसभा चुनाव फरवरी 2015 में कराए गए थे। ऐसे में नई सरकार के गठन के लिए फरवरी में ही चुनाव करा लेने की योजना पर चुनाव आयोग तेजी से काम कर रहा है। बता दें कि इस बार के चुनाव में जीत हासिल करने के लिए वर्तमान सत्तारूढ़ पाटी आप के मुखिया अरसविंद केजरीवाल ने सभी 70 सीटें जीतने का ऐलान कर दिया है, जबकि भाजपा और कांग्रेस समेत अन्यय दलों ने भी चुनाव के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं।  

Posted By: Rizwan Mohammad

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस