मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

रायपुर। शपथ लेने के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मंच पर जब पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की ओर बढ़े, तब हर किसी की नजर उन टिकी रही।

इसका कारण यह था कि बघेल ने पांच साल बाद रमन से हाथ मिलाया। रमन ने भी हाथ मिलाते हुए बघेल को अपनी ओर खींचा और खुद से चिपकाकर शुभकामनाएं दी। बघेल ने पार्टी के वरिष्ठ नेता मोतीलाल वोरा, मल्लिकार्जुन खडगे और पीएल पुनिया का पैर छूकर आशीर्वाद लिया, तो राहुल से हाथ मिलाकर शुभकामनाएं लीं।

मुख्यमंत्री बघेल के शपथ और आशीर्वाद लेने के बाद टीएस सिंहदेव और फिर ताम्रध्वज साहू ने मंत्री पद की शपथ ली। दोनों मंत्रियों ने भी वरिष्ठ नेताओं का आशीर्वाद लिया। इसके बाद बघेल ने सिंहदेव व साहू का हाथ पकड़कर ऊपर किया और एकजुटता का संदेश दिया।

यह देखकर राहुल से रहा नहीं गया, वे भी उठकर चले गए। बघेल, सिंहदेव, साहू के साथ उन्होंने ने हाथ पकड़ा और एक बार फिर से ऊपर किया। यह दिखाने के लिए कांग्रेस में सभी एकजुट हैं। शपथ ग्रहण समारोह में पहुंचे प्रदेशभर के कांग्रेस कार्यकर्ताओं का उत्साह देखते लायक था। जब भी कोई विधायक गेट से प्रवेश करता, वे उसके नाम का नारा लगाते। विधायक भी हाथ हिलाकर उनका अभिवादन स्वीकार करते रहे।

इंद्रदेव ने दिया आशीर्वाद

दिनभर हो रही रिमझिम बारिश पर मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि बारिश्ा से परेशानी नहीं हुई, बल्कि वे तो खुश हैं, क्योंकि इंद्रदेव ने उन्हें आशीर्वाद दिया है।

सिद्धू का नाम सुनते ही गूंजा स्टेडियम

मंच पर राहुल गांधी के साथ कांग्रेस के राष्ट्रीय स्तर के कई नेता पहुंचे। सभी का नाम लिया जा रहा था। जैसे ही पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू का नाम आया, प्रशंसकों की नारेबाजी से स्टेडियम गूंज गया। सिद्धू ने हाथ हिलाकर सभी का अभिवादन किया।

बांटे गए थे 35 हजार पास, जगह पांच हजार की

पहले साइंस कॉलेज मैदान में शपथ ग्रहण समारोह होना था, इसलिए जनसंपर्क विभाग और कांग्रेस की तरफ से 35 हजार आमंत्रण पत्र बांटे गए थे। इसके बाद जब जगह बदलनी पड़ी, तो दिक्कत हो गई, क्योंकि इनडोर स्टेडियम की क्षमता केवल पांच हजार की है जबकि आठ हजार लोग तो स्टेडियम के अंदर ही थे। बारिश के कारण कम लोग पहुंचे थे, तब भी क्षमता से दो-ढाई गुना लोग समारोह का हिस्सा बनने पहुंच गए थे।

भूपेश की मां, पिता, पत्नी और बेटियों से मिले सिंहदेव

टीएस सिंहदेव स्टेडियम पहुंचे, तो मंच पर जाने से पहले वे नीचे सामने की तरफ बैठक बघेल की मां, पिता, पत्नी और बेटियों से मिलने पहुंचे। उन्होंने हाथ जोड़कर सभी को नमस्कार किया और हाल-चाल पूछा।

कस्र्णा ने संभाला मंच

मंच के संचालन के लिए एंकर की व्यवस्था की गई थी, लेकिन शपथ ग्रहण समारोह में आए पार्टी के कार्यकर्ताओं में उत्साह भरने के लिए पूर्व सांसद कस्र्णा शुक्ला ने माइक थाम लिया।

राहुल ने चार फोटो डाल किया ट्वीट

शपथ ग्रहण समारोह से निकलने के बाद राहुल गांधी ने कार्यक्रम की चार तस्वीरों के साथ ट्वीट किया। उसमें से एक फोटो तो राहुल, मुख्यमंत्री बघेल, मंत्री सिंहदेव व साहू के साथ हाथ ऊपर करके एकजुटता का संदेश देने वाली थी। उन्होंने लिखा, 'छत्तीसगढ़ वासियों का धन्यवाद, कंधे से कंधा मिलाकर हम सब नए छत्तीसगढ़ का निर्माण करेंगे। किसानों, नौजवानों और महिलाओं का सरकार पर विशेष दावा होगा। कांग्रेस के कार्यकर्ताओं और नेताओं ने मुश्किल हालातों में कठिन परिश्रम से कांग्रेस को विजयी बनाया है। आप सभी को हार्दिक बधाई"।  

Posted By: Hemant Upadhyay

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप