रायपुर, नईदुनिया। भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति की दिल्ली में आयोजित बैठक के बाद छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के लिए 77 उम्मीदवारों की घोषणा कर दी गई है। एक मंत्री सहित 14 विधायकों के भाजपा ने टिकट काट दिए हैं। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को राजनांदगांव से प्रत्याशी बनाया गया है। कांग्रेस से आए उइके व पूर्व कलेक्टर ओपी चौधरी को भी प्रत्याशी बनाया गया है। सांसद विक्रम उसेंडी को अंतागढ़ से मैदान में उतारा गया है।

केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा ने दिल्ली स्थित राष्ट्रीय कार्यालय में आयोजित पत्रकारवार्ता में 90 में से 77 सीटों के उम्मीदवारों के नाम घोषणा की। इस दौरान उन्होंने कहा कि पहले चरण के चुनाव के लिए 18 सीटों में से 17 पर प्रत्याशी तय किए गए हैं। इसमें 14 महिला, 25 उम्मीदवार 40 वर्ष से कम उम्र के युवा हैं। इसके साथ ही 53 किसानों पर भाजपा ने बड़ा दांव खेला है।

कांग्रेस के बागी रामदयाल उइके और पूर्व कलेक्टर ओपी चौधरी को उम्मीदवार बनाया गया है। भाजपा की पहली सूची में मंत्री रमशीला साहू को दुर्ग ग्रामीण से उम्मीदवार नहीं बनाया गया है। अनुसूचित जनजाति की 29 और अनुसूचित जाति की दस सीट के उम्मीदवारों की घोषणा कर दी गई है।

शाम छह बजे शुरू हुई केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक, डॉ अनिल जैन, सरोज पांडेय, रामविचार नेताम, विष्णुदेव साय और पवन साय सहित चुनाव समिति के सदस्य शामिल हुए।

 11 हारे नेताओं पर फिर दांव
पार्टी ने पिछले चुनाव में हारे 11 नेताओं को इस बार फिर टिकट दिया है। इसमें रजनी त्रिपाठी, सिद्धनाथ पैकरा, विजयनाथ सिंह, अनुराग सिंहदेव, ननकीराम कंवर, डॉ कृष्णमूर्ति बांधी, नंदकुमार साहू, चंद्रशेखर साहू, कोमल जंघेल, लता उसेंडी, भीमा मंडावी, धनीराम बारसे हैं।


इन विधायकों का कट गया टिकट
विधायक राजशरण भगत, रोहित साय, सुनिती राठिया, राजूसिंह क्षत्री, बद्रीधर दीवान, खेलावन साहू, युद्घवीर सिंह जूदेव, चुन्नीलाल साहू, नवीन मारकंडेय, गोवर्धन मांझी, श्रवण मरकाम, रमशीला साहू व भोजराज नाग को टिकट नहीं दिया गया है। इसके अलावा मंत्री रमशीला साहू को दुर्ग ग्रामीण से उम्मीदवार नहीं बनाया गया।


पति का पत्नी, तो पत्नी का टिकट पति को
लैलूंगा से विधायक सुनिती राठिया का टिकट काटकर पति सत्यानंद राठिया और चंद्रपुर से विधायक युद्धवीर सिंहजूदेव का टिकट काटकर उनकी पत्नी संयोगिता सिंहजूदेव को टिकट दिया गया है।


इन नए चेहरों को उतारा मैदान में
छत्तीसगढ़ महिला आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पांडेय, पूर्व आइएएस ओपी चौधरी, प्रो गोपालराम भगत, लीनव राठिया, विकास महतो, रंजना साहू, चंद्रिका चंद्राकर, हिरेंद्र साहू, कंचनमाला भूआर्य, हीरा मरकाम, हरिशंकर नेताम, मोनिका साहू, रजनीश सिंह को भी टिकट दिया गया है।


यहां भी चला परिवारवाद
भाजपा के टिकट वितरण में भी परिवारवाद की झलक साफ नजर आई। कोरबा सांसद बंशीलाल महतो के बेटे विकास महतो, जूदेव परिवार की बहू संयोगिता जूदेव, राठिया परिवार से सत्यानंद राठिया को टिकट मिला है।


पहली बार 14 महिला प्रत्याशी
पहली बार भाजपा ने 14 महिला उम्मीदवार बनाए हैं। भाजपा ने 2003 में छह महिला प्रत्याशी मैदान में उतारे, जिसमें चार को जीत मिली थी। 2008 में दस में छह और 2013 में 11 में छह महिला उम्मीदवारों को जीत मिली थी।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस