रायपुर [राज्य ब्यूरो]। छत्तीसगढ़ की कांग्रेस विधायक डॉ. रेणु जोगी द्वारा अपने पति पूर्व मुख्यमंत्री और जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के मुखिया अजीत जोगी के जीवन पर लिखी पुस्तक 'अजीत जोगी: अनकही कहानी" का विमोचन गांधी जयंती के अवसर पर किया गया।

आइएएस अफसर के पद से त्याग देकर राजनीति में आने वाले जोगी को तेज तर्रार अफसर के साथ ही तुर्क नेता भी माना गया। एक गंभीर दुर्घटना में पैरों से लाचार होने के बाद भी जोगी जिवटता के साथ राजनीति के मैदान में डटे रहे हैं। जोगी पर लिखी गई इस किताब में उनकी एक गर्लफ्रेंड का भी जिक्र किया गया है।

पुस्तक के विमोचन के दौरान अजीत जोगी अपने पूरे परिवार सहित मौजूद रहे। विमोचन समारोह में डॉ. रेणु जोगी ने किताब लिखने का अनुभव बांटा साथ ही इसके कुछ मुख्य अंश के बारे में भी जानकारी दी। सागौन बंगला में आयोजित समारोह में पुस्तक के बारे में डॉ रेणु जोगी ने विस्तार से बताया।

उन्होंने बताया कि अपने 40 वर्ष के वैवाहिक जीवन के उतार-चढ़ाव आदि के सफर को इस पुस्तक में समाहित करने का प्रयास उन्होंने किया है। अजीत जोगी के प्रशासनिक अनुभव (कलेक्टर के रूप में) व राजनीतिक क्षमता का भी जिक्र है। पुस्तक में जीरम घाटी नरसंहार, जग्गी हत्याकांड, जर्सी गाय प्रकरण, जूदेव प्रकरण, जाति प्रकरण व जकांछ स्थापना आदि का जिक्र है।

उन्होंने कहा कि हमारे जीवन में ज शब्द का इस कदर हस्तक्षेप रहा है कि अब ज शब्द से ही डर लगने लगा है। नेत्र चिकित्सक से विधायक तक का सफर तय करने वाली रेणु जोगी ने कहा कि इस पुस्तक में अजीत जोगी के शुरूआती दिनों में एक गर्लफ्रेंड का भी जिक्र है, जिसे पढ़ने के बाद जोगी थोड़े नाराज भी हैं। इस दौरान विधायक अमित जोगी, ऋचा जोगी, नितिन भंसाली आदि मौजूद रहे।

Posted By: Vikas Jangra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस