दरभंगा, जेएनएन। Bihar Assembly Elections 2020 : हायाघाट से जदयू के टिकट पर विधायक बने अमरनाथ गामी ने जनता दल यूनाइटेड से नाता तोड़ लिया है। शनिवार को शहर के शिवाजीनगर स्थित अपने आवास पर विधायक ने संवाददाता सम्मेलन में एनडीए नेताओं के खिलाफ अपनी भड़ास निकाली। कहा कि जदयू में कोई नीति और सिद्धांत अब नहीं बचा है। मैंने जदयू छोड़ने का फैसला यूं ही नहीं लिया। पार्टी में सीट तो दूर जगह मिलना भी मुश्किल है। पार्टी में काम करने वाले विधायक और कार्यकर्ताओं की कोई अहमियत नहीं है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कुर्सी प्रेमी हैं। हालांकि वे अच्छे नेता हैं। लेकिन, कभी पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव तो कभी भाजपा और मांझी के साथ हो लेते हैं। जदयू में सूड़ी समाज काफी उपेक्षित है। सूड़ी जाति के जनप्रतिनिधियों को पार्टी में सम्मान नहीं मिलता है। अधिकांश सूड़ी जाति के जनप्रतिनिधि जदयू से खफा चल रहे हैं। नीतीश कुमार इस समाज के साथ धोखा कर रहे हैं।

सोमवार को कर सकते नई घोषणा

विधायक ने कहा कि हायाघाट विधानसभा कर्मभूमि है। दरभंगा शहरी ‌विधानसभा क्षेत्र जन्मभूमि के साथ ही बड़े भाई सत्यनारायण गामी का सपना है। दोनों जगहों के साथ मेरा खास लगाव है। राजद अभी ज्वाइन नहीं किया हूं। सोमवार को इसकी घोषणा करूंगा। जनसंपर्क कर जनता से राय लूंगा। मंदिर-मस्जिद का दौरा करूंगा। फिर आम लोगों की सहमति के बाद फैसला करूंगा।

कहा- सरकार बदलनी चाहिए

विधायक गामी ने कहा कि नीतीश सरकार को बदलने की जरूरत है। जनता सरकार से ऊब चुकी है। एनडीए सरकार में दुष्कर्म, बेरोजगारी और महंगाई चरम पर है। नीतीश सरकार में प्लान और नीति के तहत विकास के कार्य नहीं किए जा रहे हैं। लोगों का सरकार पर से भरोसा उठ चुका है। 

Edited By: Ajit Kumar