पटना, राज्‍य ब्‍यूरो। राजद ने गुरुवार को कहा कि भाजपा ने आज 19 लाख रोजगार सृजित करने की बात कही है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भाजपा से यह पूछना चाहिए कि इस रोजगार के लिए वह कहां से पैसे लाएगी। आज भाजपा ने संकल्प पत्र जारी किया है। पर अब बहुत देर हो चुकी है। बिहार ने अपना विकल्प चुन लिया है। राजद के राष्ट्रीय प्रवक्ता व राज्यसभा सदस्य मनोज झा ने पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में यह बात कही।

विशेष राज्य का दर्जा की मांग को लेकर दिल्ली जाएंगे

मनोज झा ने कहा कि हम आज से बीस दिन बाद दस लाख नौकरियों की अधिसूचना जारी होने की बात कह रहे, वहीं भाजपा कह रही कि वह उन्नीस लाख नौकरियों के अवसर का सृजन करेगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बनते ही तेजस्वी विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग को लेकर दिल्ली जाएंगे। अगर नहीं मिलेगा तो वहीं धरना पर बैठ जाएंगे। राजद प्रवक्ता ने कहा कि यह हास्यास्पद बात है कि केंद्र सरकार कह रही कि बिहार के लोगों को कोरोना की वैक्सीन मुफ्त देंगे। यह उनकी संकीर्ण सोच को दर्शाता है। बिहार में महागठबंधन की सरकार आ रही है। हम अनशन करके आपसे वैक्सीन लाकर लोगों को देंगे।

भ्रष्‍टाचार के मुद्दे पर घेरा

इधर, बिहार के उपमुख्‍यमंत्री और राजद के नेता तेजस्‍वी यादव ने अपने ताजा बयान में नीतीश कुमार को भ्रष्‍टाचार के मुद्दे पर घेरा है। उन्‍होंने कहा है कि अगर जनता हमारी सरकार चुनती है तो हम सत्‍ता में आते ही पूर्व की सरकार के द्वारा किए गए सारे घोटाले सामने ला देंगे। बिहार के कोष से 30,000 करोड़ रुपये चोरी कर लिए गए हैं उसका हिसाब होगा। सीएम नीतीश कुमार इन सब पर चुप हैं। भ्रष्‍टाचार के मुद्दे पर उन्‍होंने सीएम को घेरते हुए कहा कि उनकी चुप्‍पी ही उन्‍हें भीष्‍म पितामह बना रही है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस