मधुबनी। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राजद राज्य को नक्सलवाद के आतंक में झोंकना चाहता है। जबकि, पीएम नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आतंकवाद और नक्सलवाद को खत्म कर रहे हैं। वे झंझारपुर के ललित कर्पूरी स्टेडियम में गुरुवार को जनसभा को संबोधित कर रहे थे। सीएम योगी ने केंद्र की मोदी सरकार और बिहार की नीतीश सरकार की जमकर सराहना की। कहा कि मोदी सरकार ने छह वर्ष के अंदर तीन करोड़ लोगों को आवास, चार करोड़ को बिजली, 10 करोड़ को शौचालय, 15 करोड़ को मुद्रा योजना से लोन, 35 करोड़ को जन-धन योजना का खाता, 12 करोड़ को प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना, 50 करोड़ को आयुष्मान योजना का लाभ दिया और 80 करोड़ लोगों को कोरोना काल मे निश्शुल्क खाद्यान्न योजना का लाभ पहुंचाया। पाकिस्तान और अन्य दुष्ट देशों से सरहद पर ²ढ़ता के साथ सेना लड़ रही है। यह नए भारत की पहचान है। कहा कि पूरी दुनिया जहां कोरोना से त्रस्त है, वहीं बिहार चुनाव में मस्त है। लोगों से दो गज दूरी ओर मास्क का उपयोग अनिवार्य रूप से करने की सलाह देते हुए झंझारपुर के भाजपा प्रत्याशी नीतीश मिश्रा व राजनगर के भाजपा प्रत्याशी रामप्रीत पासवान के पक्ष में वोट करने की अपील की। विरोधियों पर कटाक्ष करते हुए सीएम योगी ने कहा कि यूपीए की तब की केंद्र सरकार घोटालों की सरकार थी। स्पेक्ट्रम, कोयला सहित कई घोटाले उनके राज में हुए। बिहार की पंद्रह साल की राजद सरकार पर प्रहार करते हुए कहा कि उस समय यहां जंगलराज था। लोगों से दस लाख नौकरी के चुनावी झांसे में ना फंसने की अपील करते हुए कहा कि महागठबंधन ने राज्य में माले से समझौता किया है। अगर वे सत्ता में वापस आए तो बिहार में फिर से जंगलराज की स्थापना हो जाएगी। कहा कि मिथिलांचल ज्ञान की भूमि रही है। यह भूमि राज्य में जंगलराज को कभी नहीं आने देगी। माता जानकी की यह पवित्र भूमि अयोध्या की ही तरह पावन व पवित्र है। सभा के दौरान भीड़ योगी-योगी और जय सियाराम के नारे लगाती रही। चुनावी सभा को पूर्व सांसद मंगनीलाल मंडल, पूर्व विधान पार्षद कामेश्वर चौपाल, नीतीश मिश्रा, रामप्रीत पासवान सहित कई नेताओं ने संबोधित किया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस