बगहा । लगुनाहा चौतरवा पंचायत के चौबरिया गांव के सटे पश्चिम सियाराहा नाला पर पुल की मांग करते करते ग्रामीण थक गए। परंतु आज भी वह क्षेत्र का बड़ा मुद्दा विकास को चिढ़ा रहा है। ग्रामीण सुनील कुमार चौबे, चंदन कुमार साह, शिवनाथ यादव, व्यास सिंह, विकेश शर्मा, सज्जाद अंसारी, मुख्तार अंसारी, वीरेंद्र सिंह, संजय राव, इंद्रजीत बैठा, अजय कुमार राव आदि लोगों ने बताया कि आजादी के बाद से ही सियाराहा नाला पर पुल की मांग ग्रामीणों द्वारा समय समय पर की जाती रही है। चौबरिया से बरियरवा गांव की सीधी दूरी मात्र एक किलोमीटर है। परंतु उक्त नाला में पानी आते ही आवागमन ठप हो जाता है। फिर बरसात के चार माह उक्त मार्ग से आवागमन ठप हो जाता है। चुनाव के समय ही प्रत्याशियों को उक्त स्थल पर पुल की आवश्यकता याद आती है। फिर चुनाव के साथ ही पुल की मांग भी ठंडे बस्ते में बंद हो जाती है।सांसद,विधायक व क्षेत्र के जिला परिषद सदस्य के द्वारा मिथ्या आश्वासन सुनते सुनते ग्रामीण थक चुके हैं। कहते हैं ग्रामीण आखिर किस पर करें भरोसा। सब के सब खट्टे साबित हुए। अब जबकि पुन: विधान सभा चुनाव का बिगुल बज चुका है। प्रत्याशियों के प्रचार प्रसार के साथ लोगों के साथ मिलना जुलना भी शुरू हो चुका है। ऐसे में चौबरिया के लोग आक्रोशित हैं। प्रत्याशियों से उल्टे सीधे सवाल की तैयारी भी पूरे जोरों पर तैयार की गई है। आखिर अब आप कौन सा प्रलोभन देने जा रहे हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस