जेएनएन, सासाराम। नोखा विधानसभा सीट बिहार की 243 विधानसभा सीटों में से एक है। यह क्षेत्र सासाराम जिला और काराकाट लोकसभा सीट के अंतर्गत आता है। 1951 में हुए पहले चुनाव में यहां से कांग्रेस के रघुनाथ प्रसाद शाह विधायक बने थे। 2015 में यहां राजद की अनीता देवी विधायक बनीं। उनके ससुर जंगी चौधरी दो बार व पति आनंद मोहन भी एक बार इस विधानसभा क्षेत्र से प्रतिनिधित्व कर मंत्री बने थे। पति की मृत्यु के बाद पार्टी ने उन्हें मैदान में उतारा। अनीता सहित इस बार 15 प्रत्याशी चुनाव मैदान में जमे हैं। जदयू ने अपने जिलाध्यक्ष नागेंद्र चंद्रवंशी को उम्मीदवार बनाया है। लोजपा से डॉ. कृष्ण कबीर प्रत्याशी हैं। वह शाहाबाद के सांसद रहे राम अवधेश सिंह के पुत्र हैं। भाजपा से चार बार विधायक रहे रामेश्वर चौरसिया इस बार लोजपा के टिकट से सासाराम से चुनाव लड़ रहे।

प्रमुख प्रत्‍याशी

1. अनीता देवी, राजद

2. नागेंद्र चंद्रवंशी, जदयू

3. डॉ. कृष्‍ण कबीर, लोजपा

प्रमुख मुद्दे

1. बेरोजगारी - क्षेत्र में बेरोजगारी इस बार महत्‍वपूर्ण मुद्दा है। इस क्षेत्र के काफी लोगों को रोजगार के लिए पलायन करना मजबूरी है। इस साल लॉकडाउन के कारण ऐसे लोगों का रोजगार प्रभावित हुआ है। बहुत सारे लोग काम छूटने के कारण घर आकर बैठ गए हैं।

2. शिक्षा - क्षेत्र में तकनीकी और उच्‍च शिक्षा के लिए कोई स्‍तरीय संस्‍थान नहीं है। इसके कारण हाईस्‍कूल की शिक्षा के लिए भी लोगों को बिक्रमगंज और सासाराम जैसे शहरों में अपने बच्‍चों को भेजना पडता है।

3. उद्योग - यह क्षेत्र राइस मिलों के लिए चर्चित रहा है। धान इस क्षेत्र में खूब उपजता है। इसके बावजूद राइस मिलों की संख्‍या लगातार कम हुई है। दूसरा कोई उद्योग इस क्षेत्र में लग नहीं पाया है।

प्रमुख तथ्‍य

कुल मतदाता - 2,86,176

पुरुष मतदाता - 1,50,162

महिला मतदाता - 1,36,002

थर्ड जेंडर - 12

वर्ष - कौन जीता - कौन हारा

2015 - अनीता देवी, राजद - रामेश्‍वर प्रसाद चौरसिया, भाजपा

2010 - रामेश्‍वर प्रसाद चौरसिया, भाजपा - कांति सिंह, राजद

2005 नवंबर - रामेश्‍वर प्रसाद चौरसिया, भाजपा - आनंद मोहन सिंह, राजद

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस