पटना/ गया, जेएनएन। Bihar Election 2020:  चुनाव के मौसम में  कसमों और वादों की बाढ़ रहती है। कसम खाने की बारी 21 अक्‍टूबर, बुधवार को केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे (Union Minister, Ashwini Kumar Chaubey) की थी। गया में उन्होंने कसम खाई कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड  (Muzaffarpur Shelter Home Case) मामले में पूर्व समाज कल्याण मंत्री (Ex Social Welfare Minister) और जदयू की प्रत्याशी मंजू वर्मा (JDU Candidate Manju Verma) पर दाग साबित हो जाएगा तो वह राजनीति से संन्यास (retire from Politics) ले लेंगे।  चौबे ने दावा किया कि बालिका गृह कांड में मंजू वर्मा का नाम साजिश के तहत घसीटा गया था। उन्हें फंसाया गया। उनके खिलाफ आरोप साबित हो ही नहीं सकते।

मंत्री अश्वनी चौबे और भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता (BJP National Spokesperson) संबित पात्रा (Sambit Patra)  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi ) की गया में 23 अक्टूबर को होने वाले चुनावी सभा की तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे थे। आज 21 अक्‍टूबर, बुधवार को प्रेस वार्ता में उन्‍होंने कहा कि 10 नवंबर को बिहार में राजद कांग्रेस और कोरोना (RJD, Congress and Corona)  से मुक्ति मिल जाएगी। तीनों से मुक्ति के लिए बिहार की जनता ने एनडीए (NDA) के पक्ष में अपना निर्णय देने का मन बना लिया है। 

मंजू वर्मा को मंत्री पद से देना पड़ा था इस्‍तीफा

बता दें कि मुजफ़फ्पुर बालिका गृह यौन उत्‍पीड़न कांड के समय मंजू वर्मा बिहार सरकार में समाज कल्‍याण मंत्री थीं। उनकी नाक के नीचे इतनी घिनौनी और भयानक साजिश हुई और उन्‍हें भनक तक नहीं लगी। इसके लिए मंजू वर्मा को मंत्री पद से इस्‍तीफा भी देना पड़ा था। इस बार जदयू ने फिर से मंजू वर्मा पर विश्‍वास जताया है। वह जदयू की टिकट पर बेगूसराय जिला के चेरिया बख्तियारपुर विधान सभा क्षेत्र की उम्‍मीदवार हैं।

लालू कुनबा भ्रष्‍टाचार में आकंठ लिप्‍त

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि बिहार में एनडीए की सरकार दो तिहाई बहुमत से बनेगी। पिछले 15 साल में लालू- राबड़ी और कांग्रेस की सरकार ने बिहार को लूटने का काम किया है। उस वक्त बिहार में जमीन हड़पने, लूट, अपहरण, डकैती और नरसंहार जैसे घृणित कार्य हुए हैं। उन्होंने महागठबंधन पर प्रहार करते हुए कहा कि तेजस्वी का पूरा परिवार भ्रष्टाचार की नींव पर खड़ा है।

मंत्री ने कहा कि जेपी आंदोलन का ₹100000 का कूपन का हिसाब कई दशक बीतने के बाद भी लालू यादव ने नहीं दिया है। लालू यादव शुरू से ही भ्रष्टाचार में शामिल थे जिसका प्रतिफल या हुआ वह खुद जेल में बंद हैं।  अब उनके सुपुत्र भ्रष्टाचार की नींव पर मकान बनाना चाहते हैं जो बिहार की जनता कभी पूरा होने नहीं देगी।

राहुल-तेजस्वी की जोड़ी भ्रष्टाचार, अपरिपक्वता की जोड़ी

 उन्होंने कहा कि बिहार प्रधानमंत्री के आगमन के पूर्व ही एनडीए की सरकार बनती दिख रही है। 23 अक्टूबर को जब प्रधानमंत्री बिहार आएंगे तो 10 से 12 फीसद वोट बढ़ जाएगा। प्रधानमंत्री जन-जन में बसते हैं। उन्होंने कहा कि हवाई अड्डा में जो मंच बन रहा है व सुशासन व विकास का मंच है। प्रधानमंत्री जब इस मंच से लोगों के साथ विचार साझा करेंगे तो खुद ब खुद मत फीसद बढ़ जाएगा। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी-नीतीश की डबल इंजन सरकार के कारण विकास कार्य तेजी से हो रहा है। एक तरह मोदी-नीतीश हैं तो दूसरी तरह राहुल-तेजस्वी हैं। दोनों जोड़ी में कोई तुलना ही नहीं है। एक तरह परिपक्वता, सुशासन और मोदी-नीतीश की डबल इंजन की सरकार है। राहुल-तेजस्वी की जोड़ी भ्रष्टाचार, अपरिपक्वता की जोड़ी है।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस