पटना, जेएनएन। Bihar Election 2020: ' अबकी 28 तारीख के भैया जी तनी सोचके तनी जांचिके कमल के बटन दवाबा ए भैया' ।  यहां से आगे बढ़े बिहार कदम उठावा है भैया... अपने बिहार के किस्मत बढ़ावा है भैया ।'  भोजपुरी एक्‍टर व सिंगर मनोज तिवारी द्वारा भोजपुरी में इन पंक्तियों को गुनगुनाते ही भीड़ से जमकर तालियां बजने लगती है। चुनावी मैदान में लोगों में  भोजपुरी एक्‍टर्स और सिंगर के प्रति गजब की दिवानगी  दिखती है। आज शनिवार , 24 अक्‍टूबर को भाजपा के स्‍टार प्रचारकों में शामिल सांसद मनोज तिवारी गया के परैया में भाजपा नेता कपिल मिश्रा के साथ चुनाव प्रचार में रंग भर रहे थे। अब इनके बाद लोगों को भोजपुरी फिल्म स्टार दिनेश लाल यादव उर्फ 'निरहुआ' का इंतजार है।

रविवार को आएंगे निरहुआ

  बिहार का चुनावी आसमान इन दिनों सियासी सितारों से जगमग कर रहा है। इनमें कुछ ऐसे भी सितारे हैं, तो सियासत में उतरने से पहले बिहार-यूपी में अलग पहचान रखते थे। ऐसे ही हैं भोजपुरी फिल्म स्टार दिनेश लाल यादव उर्फ 'निरहुआ'। आजमगढ़ से चुनाव लडऩे के पहले उनका परिचय उनके गाने और फिल्मों की वजह से ही था।  निरहुआ रविवार को बिहार के चुनावी मैदान में उतरेंगे। पहले चरण के लिए चुनाव प्रचार के आखिरी दिन 26 को चार सभाएं तय हुई है। पहली सभा चेनारी, दूसरी बेलहर, तीसरी कहलगांव और चौथी पिरपैंती विधानसभा क्षेत्र में होगी।

उत्‍सुकता जगा रहे ये

दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष रह चुके सांसद मनोज तिवारी इन दिनों बिहार में डेरा डाले हुए हैं। मनोज तिवारी का एक गाना भी बिहार चुनाव के मद्देनजर भाजपा ने जारी कराया है। अब देखना है कि दिनेश लाल यादव निरहुआ बिहार की जनता से भोजपुरी में कैसे संवाद करते हैं और कौन सी धुन सुनाते हैं।

सुशांत सिंह मौत पर कांग्रेस पर हमला

गया के परैया में मनोज तिवारी को सुनने और देखने के लिए हजारों की भीड़  इकट्ठा हुई थी । कपिल मिश्रा ने अपने संबोधन में बिहार के लाल सुशांत सिंह राजपूत के मौत को मामले में महाराष्ट्रा सरकार व कांग्रेस पर हमला किया। साजिशन पूरे मामले को दबाने की बात कही।

बिहार की मां-बहनें सबक सिखाएंगी

सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि भोजपुरी भाषा की पहचान सभी को है इसलिए भोजपुरी में संवाद करेंगे। सबसे पहले गुरुआ के प्रत्याशी राजीव नन्दन दांगी के साथ टिकारी के हम प्रत्याशी डॉ अनिल कुमार को मतदान देकर भाजपा को जिताने की बात कही। बेहतर इलाज के लिए दिल्ली एम्स जाने की जरूरत अब बिहारियों को नही है। पटना में ही सब तरह का इलाज संभव है। कार्यक्रम के बाद पत्रकारों के कांग्रेस द्वारा सरकार बनने पर शराबबंदी कानून की समीक्षा के सवाल पर मनोज तिवारी ने कहा कि वे शराब पिलाने वाले हैं, हम शराबबंदी से खुशियां लानेवाले हैं। बिहार की मां - बहनें एेसे लोगों को सुन रही है, चुनाव में उन्‍हें सबक सिखाएंगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस