पटना, जेएनएन। पालीगंज विधानसभा क्षेत्र में परिवहन की थमी रफ्तार चुनाव का मुख्य मुद्दा बना है। रांची, रक्सौल, डेहरी, मुजफ्फरपुर और कोलकाता वाली बस की याद पालीगंज वासियों को खूब सता रही है। गांव की गलियों से लेकर चौक-चौराहों तक इसकी चर्चा हो रही है। खेतों की सिंचाई, रोजगार, उच्च शिक्षा और बेहतर स्वास्थ्य सुविधा भी इस बार का बड़ा मुद्दा बना है।

वहीं, वर्ष 2015 के विस चुनाव में इस सीट से राजद के जयवर्धन यादव जीते थे। उन्होंने भाजपा के डॉ. उषा विद्यार्थी को 24453 मत से पराजित किया था। 55.79 फीसद मतदान हुआ था। इस बार जदयू के जयवद्र्धन यादव, लोजपा की उषा विद्यार्थी और भाकपा माले के संदीप सौरभ समेत 25 प्रत्याशी मैदान में हैं।

मुद्दा एक

अंतरराज्यीय बस डिपो पालीगंज काफी जर्जर हो चुकी है। बसें सड़क पर ही खड़ी रहती हैं। कभी इस डिपो से रांची, कोलकाता, मुजफ्फरपुर समेत कई शहरों के लिए बसें रवाना होती थीं। हर आधे घंटे पर यहां से बस खुलती थी। आम लोगों का आना- जाना आसान था। आज बस डिपो में एक भी गाड़ी नहीं लगती। भवन खंडहर में तबदील हो चुका है। स्थानीय मतदाताओं के लिए डिपो का जीर्णोद्धार बड़ा मुद्दा है।

मुद्दा  दो

पालीगंज बाजार में जाम आम समस्या बनी हुई है। मार्केट से बाहर होते हुए नई बाईपास की मांग वोटर लगातार करते रहे हैं। अब तक निर्माण नहीं हुआ है। यह मांग भी चुनाव में जोड़ पकडऩे वाली है।

मुद्दा  तीन

सोन केनाल नहर से निकली हुई नौ नंबर नहर का पानी निचली छोड़ तक नहीं पहुंचने से खेतों की सिंचाई नहीं हो रही है। कई बार जनप्रतिनिधियों से शिकायत भी की गई, लेकिन नतीजा कुछ नहीं निकाला। चुनाव में इस मुद्दे को किसान उठाने के मूड में हैं

मुद्दा चार

पालीगंज में डिग्री कॉलेज का आश्वासन हर चुनाव में प्रत्याशी और उनके समर्थन में आने वाले नेता करते हैं। सुदूर ग्रामीण क्षेत्र के छात्र-छात्राओं को वर्षों से इसकी दरकार है। अब तक डिग्री कॉलेज की स्थापना नहीं होने से उच्च शिक्षा ग्रहण करने के लिए दूसरे शहरों को जाना पड़ रहा है। इस चुनाव में युवा वर्ग के लिए कॉलेज की स्थापना मुद्दा है।

मुद्दा पांच

अनुमंडलीय अस्पताल पालीगंज को अपग्रेड करना और नए भवन बनाए जाने का सपना अब भी अधूरा है। करीब 13 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले भवन का निर्माण नहीं हो सका है। ग्रामीण बताते हैं, अनुमंडलीय अस्पताल के निर्माण होने से आसपास के इलाकों में चिकित्सा के क्षेत्र में बेहतर इलाज मिलता। अस्पताल का नया भवन और अपग्रेडेशन चुनाव में मुद्दा बनने लगा है।

एक नजर में

कुल मतदाता : 279779

पुरुष मतदाता : 144780

महिला मतदाता : 134993

थर्ड जेंडर : 6

लिंगानुपात : 932.40

25 प्रत्याशी हैं पालीगंज से मैदान में

जदयू के जयवद्र्धन यादव, लोजपा की उषा विद्यार्थी और भाकपा माले के संदीप सौरभ समेत 25 प्रत्याशी मैदान में हैं। निर्दलीय अनीता देवी, बसंत कुमार, धनंजय कुमार, गोपाल चौधरी, हरेकृष्ण सिंह, जितेंद्र बिंद, महेश यादव, राकेश रंजन, संजीत कुमार, श्रीनिवास कुमार, सुनील कुमार और बेंकटेश शर्मा मैदान में हैं। लोकप्रिय समाज पार्टी के दीनानाथ पंडित, जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के फुजलुर रहमान अंसारी, रालोसपा की मधु मंजरी, शिव सेना के मनीष कुमार, भारतीय आम आवाम पार्टी के मनोज कुमार उपाध्याय, नेशनल फस्र्ट डेमोक्रेटिक पार्टी के नीतू देवी, लोक सेवा दल के राजगीर प्रसाद, पीपुल्स पार्टी ऑफ इंडिया के रवींद्र प्रसाद, भारतीय सबलोग पार्टी के रवीश कुमार और शोषित समाज दल के संत कुमार सिंह भी मैदान में रह गए हैं। नाम वापस लेने वालों में शैलेंद्र कुमार वात्स्यायन, लवलेश कुमार और प्रमोद कुमार शामिल हैं।

वर्ष 2015 विस चुनाव

जीत

राजद के जय वर्धन यादव

प्राप्त वोट 65932

हार

भाजपा के राम जनम शर्मा

प्राप्त वोट 41479

हार का अंतर 24453

वर्ष 2010 विस चुनाव

जीत

भाजपा के डॉ. उषा विद्यार्थी

प्राप्त वोट 43692

हार

राजद के जयवर्धन यादव

प्राप्त वोट 33450

हार का अंतर 10242

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस