अररिया, जेएनएन। नाम निर्देशन के छठे दिन समाहरणालय परिसर स्थित निर्वाची कार्यालय में उम्मीदवारों की भीड़ उमड़ पड़ी। राजद, कांग्रेस, भाजपा और जदयू पार्टी के उम्मीदवार सहित कुल 19 उम्मीदवारों ने निर्वाची अधिकारी के समक्ष अपना- अपना नामांकन कराया गया। नामांकन कराने वाले उम्मीदवारों में अररिया विधानसभा क्षेत्र के लिए जदयू से शगुफ्ता अजीम अजीम, कांग्रेस के आबिदुर रहमान, लोजपा के चंद्रशेखर ङ्क्षसह उर्फ बब्बन ङ्क्षसह, निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में आशीष भारद्वाज और काजल कुमारी शामिल है। जोकीहाट विधानसभा क्षेत्र के लिए राजद के सरफराज आलम, एसडीपीआई के सब्बीर आलम और निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में सबा प्रवीण ने अपना नामांकन कराया। रानीगंज विधानसभा क्षेत्र के लिए जदयू से अचमित ऋषिदेव, राजद के अविनाश मंगलम। वहीं निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में फुदन पासवान और वीरेंद्र ऋषिदेव के द्वारा नामांकन कराया गया। सिकटी विधानसभा क्षेत्र से राजद के शत्रुघ्न मंडल, बीजेपी के विजय मंडल, विकास इंसाफ पार्टी के उमेश कुमार मंडल वही निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में मो. कमरुजम्मा के द्वारा नामांकन दाखिल किया गया। सुबह 10 बजते ही समाहरणालय परिसर में नामांकन कराने के लिए प्रत्याशियों की भीड़ उमड़ पड़ी। हालांकि उम्मीदवार के साथ केवल दो लोगो को ही समाहरणालय परिसर में प्रवेश की अनुमति दी गई थी। सभी विधानसभा क्षेत्र के लिए अलग- अलग काउंटर बनाये गए थे। जहां निर्वाची पदाधिकारी के रूप में एक वरीय अधिकारी मौजूद थे। जोकीहाट के लिए एडीएम अनिल कुमार ठाकुर, रानीगंज के लिए भूमि सुधार उपसमाहर्ता सलीम अख्तर, अररिया के लिए एसडीओ शैलेष चंद्र दिवाकर द्वारा उम्मीदवारों से नामांकन पत्र पत्र ले कर प्राप्ति रसीद निर्गत किया गया।

उम्मीदवार समर्थक के भीड़ से सटा पड़ा रहा समाहरणालय परिसर

अररिया। विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन के छठे दिन गहमा- गहमी का माहौल रहा। पूरे दिन समाहरणालय परिसर विधानसभा उम्मीदवार और उनके समर्थकों से सटा पड़ा रहा। बढ़ती भीड़ को देखकर सुरक्षा के ²ष्टिकोण से आम लोगो के लिए समाहरणालय परिसर में प्रवेश करने पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी गई थी। जिससे आम लोग अधिवक्ता आदि जरूरी कार्य से भी समाहरणालय परिसर में प्रवेश नहीं कर पाए। सुबह के दस बजते ही उम्मीदवार और उनके समर्थक समाहरणालय परिसर स्थित निर्वाची कार्यालय पहुंचने लगें। जिला प्रशासन के निर्देश अनुसार उम्मीदवार के साथ केवल दो लोगों को समाहरणालय में प्रवेश करने की अनुमति दी गई थी। उम्मीदवार समर्थको को समझाने बुझाने और भीड़ को नियंत्रित करने में पुलिस को पसीने बहाने पड़े और कई बार झड़प का भी सामना करना पड़ा। इसके बाबजूद कई समर्थक समाहरणालय में प्रवेश कर गए। गौरतलब है की नाम निर्देशन के पहले पांच दिन उम्मीदवारों की भीड़ लगभग नगण्य रही वही सोमवार को अचानक उम्मीदवारों की भीड़ बढ़ जाने से प्रशासन को कुछ परेशानियों का सामना कर पड़ गया हालांकि प्रशासन इसके लिए पूर्व से ही तैयार था। समाहरणालय परिसर में अररिया, रानीगंज, जोकीहाट और सिकटी विधानसभा क्षेत्र के उम्मीदवारो के लिए अलग- अलग काउंटर बनाये गए थे। जहां सुरक्षा के लिए पुलिस के जवान के बाद, दंडाधिकारी और अन्य कर्मियों को तैनात किया गया था। नामांकन का समय तीन बजे तक निर्धारित किया गया था। प्राप्ति रशीद के लिए उम्मीदवारों को देर रात तक इंतजार करना पड़ा। वहीं देर रात तक अधिकारी भी समाहरणालय स्थित अपने कोषांग में डटे नजर आये।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस