पटना, जेएनएन। बिहार चुनाव के रिजल्ट को लेकर नेता से लेकर चुनावी विश्लेषक तक भले ही कंफ्यूज हों मगर जनता कंफ्यूज नहीं रहती। जनता को पता होता है कि इस बार उनकी विधानसभा सीट से किसे जिताना है, तभी तो जिसे भी वोट देती है, झोली भरकर देती है। वर्ष 2015 के विधानसभा चुनाव के आंकड़े इसके गवाह हैं। 

आधे से अधिक विधायक ऐसे, जिन्हें मिले 50 फीसद तक वोट

पिछले विधानसभा चुनाव में आधे से अधिक विधायक ऐसे रहे जिन्हें 50 फीसद तक वोट मिले। कुल 243 में 151 सीटों पर जीतने वाले विधायकों को लगभग 40-50 फीसद वोट मिले। इतना ही नहीं, 42 विधायक ऐसे रहे जिन्हें कुल मतों का आधा से अधिक यानी 50 फीसद से ज्यादा वोट मिला। बांकीपुर से भाजपा विधायक को पिछले चुनाव में सबसे अधिक 60.19 फीसद वोट मिले थे। 

20 फीसद वोट पाकर भी जीत गए विजय शंकर

2015 के विधान सभा चुनाव में 20-30 फीसद वोट पाकर जीतने वाले महज नौ विधायक रहे। मांझी सीट से कांग्रेस प्रत्याशी विजय शंकर दूबे को महज 20.57 फीसद वोट मिले थे, फिर भी वह विधायक बनने में कामयाब रहे। इसके अलावा 30 से 40 फीसद वोट पाकर 41 उम्मीदवार जीते। 

सबसे अधिक वोट फीसद वाले पांच उम्मीदवार 

  नाम         दल     सीट    वोट फीसद

1.नितिन नवीन, भाजपा, बांकीपुर,  60.19

2.रत्नेश साडा, जदयू, सोनवर्षा, 59.66

3.अब्दुल जलील मस्तान, कांग्रेस, अमौर, 59.16

4.सरफराज आलम, जदयू, जोकीहाट, 58.60

5.वीणा भारती, जदयू, त्रिवेणीगंज, 57.53

सबसे कम वोट फीसद वाले पांच विजयी उम्मीदवार 

1.विजय शंकर दूबे, कांग्रेस, मांझी, 20.57

2.विनोद कुमार सिंह, भाजपा, प्राणपुर, 26.71

3.सुनीता सिंह चौहान, जदयू, बेलसंड, 27.59

4.वसंत कुमार, बीएलएसपी, हरलाखी, 27.93

5.बीमा भारती, जदयू, रूपौली, 28.13

इस बार तीन चरणों में चुनाव

कोरोना वायरस की वजह से इसबार बिहार विधानसभा चुनाव तीन चरणों में होगा। कुल 243 सीटों के लिए पहले फेज में वोट 28 अक्टूबर को डाले जाएंगे। इसके बाद दूसरे चरण में तीन नवंबर तो तीसरे में सात नवंबर को मतदान होगा। चुनाव का परिणाम 10 नवंबर को घोषित कर दिया जाएगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस