बांका, जेएनएन। Bihar Assembly Elections 2020 : बांका विधानसभा क्षेत्र से राजग ने भाजपा की टिकट पर राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री रामनारायण मंडल को मैदान में उतारा है। राजद ने इस सीट से पूर्व मंत्री डॉ. जावेद इकबाल अंसारी को अपना उम्मीदवार बनाया है। रालोसपा के कौशल सिंह भी दमखम से चुनाव मैदान में हैं। यहां से मुख्य मुकाबला एनडीए के रामनरायण मंडल और राजद के डॉ. जावेद इकबाल अंसारी के बीच रहा। मतदान समाप्ति पर 65.5 फीसद मतदान रिकार्ड किया गया।

अब तक के चुनाव में छह बार कांग्रेस ने जीत दर्ज की है, वहीं पांच बार भाजपा ने इस सीट पर अपना झंडा लहराया है। भाजपा के वर्तमान विधायक राम नारायण मंडल ही यहां से पांच बार विधायक रह चुके हैं। इसके पूर्व बांका विधानसभा से एक बार जनसंघ के नेता बीएल मंडल 1967 में विधायक चुने गए थे। वहीं, इस इस सीट से जहां बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री स्व. चन्द्रशेखर सिंह विधायक रह चुके हैं। इस सीट पर कांग्रेस के बाद भाजपा का दबदबा रहा है।

बांका विधानसभा का इतिहास

बांका से 1952 में बांका के पहले विधायक कांग्रेस के राघवेन्द्र नारायण सिंह चुने गए। इसके बाद 1957 में विंधवासिनी देवी विधायक बनीं। 1969 में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री स्व. चन्द्रशेखर सिंह विधयक बने। वे चार बार विधायक बने। 990 में बांका विधानसभा सीट भाजपा ने कांग्रेस से छीन ली। भाजपा के राम नारायण मंडल ने चुनाव जीता। 1995 में जनता पार्टी के जावेद इकबाल अंसारी ने जीत दर्ज की, लेकिन 2000 में बांका सीट फिर भाजपा के खाते में चली गयी। इसके बाद राम नारायण मंडल भाजपा से लगातार दो बार विधायक रहे। 2010 में फिर राजद से जावेद इकबाल अंसारी चुने गए। 2015 में फिर भाजपा ने यह सीट राजद से छीन ली तथा राम नारायण मंडल विधायक बने थे।  

चांदन पुल इस बार मुख्य मुद्दा

यहां चांदन पुल ध्वस्त हो चुका है। 1995 की बाढ़ के बाद चांदन पुल का निर्माण हुआ था। आज फिर एक पुल की आवश्यकता है। हालांकि पुल की स्वीकृति केन्द्र सरकार से मिल गई है तथा बरसात के बाद निर्माण शुरू होने की उम्मीद है। बांका में इंजीनियरिंग कॉलेज, पॉलिटेक्निक, आईटीआई, महिला आईटीआई कॉलेज खुले हैं। साथ ही दर्जनों सड़क व दोमुहान में तीन बड़े पुलों का निर्माण करवाकर सौ से अधिक गांव को यातायात सुलभ कराया गया है।

बांका विधानसभा

कुल मतदाता-  245235

पुरुष मतदाता- 129518

महिला मतदाता-115716

थर्ड जेंडर- 1

प्रखंड- दो बांका व बाराहाट

पंचायत- 31

अबतक रहे विधायक

1952 राघवेन्द्र नारायण सिंह- कांग्रेस

1957 विंधवासिनी देवी- कांग्रेस

1962 ब्रजमोहन सिंह- स्वतंत्र

1967 बीएल मंडल- भारतीय जनसंघ

1969 चन्द्रशेखर सिंह- कांग्रेस

1972 चन्द्रशेखर सिंह- कांग्रेस

1977 सिंधेश्वर प्रसाद सिंह- जनता पार्टी

1980 चन्द्रशेखर सिंह- कांग्रेस

1985 चन्द्रशेखर सिंह- कांग्रेस

1990 राम नारायण मंडल- भाजपा

1995 जावेद इकबाल अंसारी- जनता पार्टी

2000 राम नारायण मंडल- भाजपा

2005 राम नारायण मंडल- भाजपा

2010 जावेद इकबाल अंसारी- राजद

2015 राम नारायण मंडल- भाजपा

इस बार के 19 प्रत्याशियों के बीच है मुकाबला

-कौशल कुमार सिंह- रालोसपा

-डॉ जावेद इकबाल अंसारी- राजद

-रामनारायण मंडल- भाजपा

-उमाकांत यादव- भारतीय दलित पार्टी

-कुंदन कुमार सिंह-भारतीय लोकतांत्रिक पार्टी

-प्रकाश ठाकुर-जनता पार्टी

-मु इबरार-आजाद समाज पार्टी

-राजेश यादव- आम जनता पार्टी

-रौशन कुमार सिंह- भारतीय सबलोक पार्टी

-काशीनाथ सिंह-निर्दलीय

-चन्द्र प्रकाश-निर्दलीय

-नरेश कुमार प्रियदर्शी-निर्दलीय

-पवन कुमार ठाकुर- निर्दलीय

-पैट्रिक मुर्म- निर्दलीय

-प्रमोद सिंह वेल्डन- निर्दलीय

-मनोज सिंह- निर्दलीय

-मनोज सिंह- निर्दलीय

-श्रीधर मंडल- निर्दलीय

 

वर्ष 2015 के परिणाम

रामनारायण मंडल - 52379

जावेद इकबाल अंसारी - 48649

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस