हाफलोंग (असम), प्रेट्र। असम के दीमा हसाओ जिले में एक बूथ की वोटर लिस्ट में सिर्फ 90 लोगों के नाम थे, लेकिन इस पर 171 वोट डाले गए। अधिकारियों ने जबर्दस्त अनियमितता उजागर करते हुए सोमवार को यह जानकारी दी। हाफलोंग विधानसभा क्षेत्र के इस बूथ पर एक अप्रैल को मतदान हुआ था और इस क्षेत्र में 74 फीसद मतदान हुआ था। 

जानें- क्या है पूरा मामला

107(ए) खोटलिर एलपी स्कूल के उक्त बूथ पर अनियमितता सामने आने के बाद जिला निर्वाचन अधिकारी ने पांच चुनाव अधिकारियों को निलंबित कर दिया है और पुनर्मतदान की सिफारिश की है। एक अधिकारी ने बताया कि सुदूरवर्ती गांव के मुखिया ने चुनाव आयोग की मतदाता सूची को स्वीकार करने से इन्कार कर दिया था और वह अपनी सूची साथ लेकर आया था। इसके बाद गांव के लोगों ने मुखिया की लाई सूची के मुताबिक मतदान किया। हालांकि अभी यह पता नहीं चल सका है कि चुनाव अधिकारियों ने गांव के मुखिया की मांग स्वीकार क्यों की और क्या वहां सुरक्षाकर्मी मौजूद थे या उन्होंने क्या भूमिका अदा की।

इन अधिकारियों को किया गया निलंबित

कर्तव्यों की उपेक्षा के लिए चुनाव आयोग ने जिन अधिकारियों को निलंबित किया है उनमें सेखियोसेम लैंगुम (सेक्टर अधिकारी), प्रह्लाद रॉय (पीठासीन अधिकारी), परमेश्वर चारंगसा (प्रथम मतदान अधिकारी), स्वराज कांति दास (द्वितीय मतदान अधिकारी) और लालजामलो थाईक (तृतीय मतदान अधिकारी) शामिल हैं। दीमा हसाओ के उपायुक्त सह जिला निर्वाचन अधिकारी ने मतदान के अगले ही दिन यानी दो अप्रैल को निलंबन आदेश जारी कर दिया था, लेकिन यह सोमवार सुबह सामने आया।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021