नई दिल्ली, एएनआइ। पीयूष हजारिका, परिमलसुक्ला बैद्य, भाबेश कलिता और राज्य विधानसभा के उपसभापति अमीनुल हक लस्कर सहित असम के कई मंत्रियों के भाग्य का फैसला गुरुवार को विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में होगा। इस चरण में कुल 345 उम्मीदवार मैदान में हैं। 1 अप्रैल को दूसरे चरण के चुनाव में 73,44,631 मतदाता मतदान करने के पात्र हैं। दूसरे चरण के चुनाव के लिए प्रचार आज समाप्त हो जाएगा।

भाजपा के टिकट पर सातवीं बार बैद्य धौलाई सीट से चुनाव लड़ रहे हैं, जगरोड से हजारिका और रंगिया सीट से कलिता चुनाव लड़ रहे हैं। कांग्रेस के पूर्व मंत्री गौतम रॉय भाजपा के टिकट पर कटिहार से चुनाव लड़ रहे हैं, जबकि पूर्व डिप्टी स्पीकर दिलीप कुमार पॉल, जिन्होंने टिकट से वंचित होने के बाद भाजपा से इस्तीफा दे दिया था, सिलचर से निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं।

राज्यसभा सांसद बिस्वजीत दैमेरी, पनेरी से चुनाव लड़ रहे हैं और असलम साहित्य सभा के पूर्व अध्यक्ष परमानंद राजबंशी सिपाझर से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। बता दें कि बराक घाटी क्षेत्र की लगभग 15 विधानसभा सीटों पर 1 अप्रैल को चुनाव होने हैं। 2016 के चुनावों में, भाजपा ने कछार जिले से 8 और सीमावर्ती करीमगंज जिले से छह सीटें हासिल की थीं, जो बांग्लादेश के साथ सीमा पर लगती हैं। 

राज्य, अपने तीन चरण के चुनावों में, भाजपा-असोम गण परिषद (एजीपी) और कांग्रेस-एआईयूडीएफ गठबंधन के बीच सीधी लड़ाई देख रहा है। भाजपा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शासन, केंद्रीय लोक कल्याणकारी योजनाओं और मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल की छवि पर चुनाव लड़ रही है। जबकि कांग्रेस सत्तारूढ़ पार्टी के खिलाफ नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन (NRC) को सामने ला रही है।

असम में 27 मार्च को पहले चरण के चुनाव में 79.93 मतदाताओं ने वोट डाले थे। अगले दो चरणों का मतदान 1 अप्रैल और 6 अप्रैल को होगा। मतगणना 2 मई को होगी।

Edited By: Nitin Arora