नई दिल्ली, एएनआइ। असम में विधानसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने स्टार प्रचारकों की सूची जारी कर दी है। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष जे.पी. नड्डा और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत 40 लोगों का नाम शामिल है। असम में  126 सीटों पर 27 मार्च से छह अप्रैल के बीच तीन चरणों में चुनाव होने हैं। नतीजे दो मई को आएंगे। 

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और स्मृति ईरानी के अलावा मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, मणिपुर के सीएम एन बीरेन सिंह और अरुणाचल प्रदेश के सीएम पेमा खांडू भी भाजपा उम्मीदवारों के लिए प्रचार करते नजर आएंगे। भाजपा उपाध्यक्ष और असम में पार्टी प्रभारी बैजयंत पांडा, चुनाव प्रभारी नरेंद्र सिंह तोमर और सह-प्रभारी जितेंद्र सिंह भी असम के लिए भाजपा के स्टार प्रचारकों की सूची में हैं। भोजपुरी अभिनेता और भाजपा नेता मनोज तिवारी और रवि किसान पर भी पार्टी उम्मीदवारों के लिए प्रचार करने की जिम्मेदारी होगी।

मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने नामांकन दाखिल किया

बता दें कि असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने मंगलवार को माजुली सीट से भाजपा प्रत्याशी के रूप में नामांकन पत्र दाखिल किया। 126 सीटों वाली असम विधानसभा के लिए पहले चरण में 27 मार्च को 47 सीटों पर, दूसरे चरण में एक अप्रैल को 39 सीटों पर और शेष 40 सीटों पर तीसरे और अंतिम चरण में छह अप्रैल को मतदान होंगे। 

70 प्रत्याशियों की पहली सूची जारी कर चुकी है भाजपा

बता दें कि राज्य में भाजपा का दल असम गण परिषद (एजीपी) और यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल (यूपीपीएल)के साथ गठबंधन है। एजीपी 26 यूपीपीएल आठ सीटों पर चुनाव लड़ेगी। बाकी 92 सीटों पर भाजपा उम्मीदवार उतारेगी। भाजपा 70 प्रत्याशियों की पहली सूची जारी कर चुकी है। मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल और मंत्री हेमंत विश्व सरमा अपनी मौजूदा सीट से ही चुनाव लड़ेंगे। सरमा जालुकबाड़ी विधानसभा सीट से उम्मीदवार होंगे। पहली सूची में 11 मौजूदा विधायकों को टिकट नहीं मिला। 

साल 2016 में 15 साल से सत्ता में काबिज कांग्रेस को शिकस्त देकर भाजपा ने सरकार बनाई

साल 2016 में, भाजपा ने इतिहास रचा और 15 साल से सत्ता में काबिज कांग्रेस को शिकस्त देकर राज्य में पहली बार सरकार बनाई। भाजपा और उसके सहयोगी असोम गण परिषद (एजीपी) और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट (बीपीएफ) को 126 में से 86 सीटों पर जीत मिली थी। इस दौरान भाजपा को 60, एजीपी को 14 और बीपीएफ को 12 सीटें मिली थईं। कांग्रेस केवल 26 सीटें ही जीत सकी थी।

 

Edited By: Tanisk