केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने पश्चिम बंगाल में डेंगू से हुई मौत पर जांच कर सटीक तथ्य जमा करने का निर्देश दिया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के निर्देश पर केंद्रीय संयुक्त स्वास्थ्य सचिव औ स्वास्थ्य परिसेवा महानिदेशालय के अधिकारियों ने पश्चिम बंगाल में डेंगू की स्थिति पर जांच-पड़ताल शुरू की है। लेकिन आश्चर्य है कि तृणमूल कांग्रेस के महासचिव व शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने इस पर आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा है कि केंद्र ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को बदनाम करने के लिए डेंगू पर भी राजनीति शुरू कर दी है। चटर्जी का कहना है कि राज्य में डेंगू के प्रकोप पर कोई तथ्य छुपाया नहीं गया है। स्वास्थ्य विभाग ने पूरा आंकड़ा जारी किया है। डेंगू से पीडि़त लोगों के उपचार और रोग की रोक-थाम के लिए हर संभव उपाय किए जा रहे हैं।
चटर्जी के इस तर्क में दम हो सकता है लेकिन इसमें आपत्ति जताने का कोई औचित्य नहीं है। दरअसल चिकित्सक संगठनों और सरकार की ओर से राज्य में डेंगू पर जारी तथ्य और मृतकों की संख्या में विरोधाभास मिलने पर कंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने स्वास्थ्य सचिव को इस विषय पर जांच पड़ताल कर रिर्पोट सौंपने का निर्देश दिया है।
पहले तो मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने डेंगू पर अफवाह फैलाने का आरोप लगाया। इससे चिकित्सक उपचार करने के दौरान डेंगू का उल्लेख करने से कतराने लगे। विपक्षी दल जब इस पर शोरगुल मचाने लगे और आम लोगों में क्षोभ बढऩे लगा तो सरकार ने राज्य में डेंगू का प्रकोप बढऩे की बात स्वीकार की। मुख्य सचिव मलय दे ने आंकड़ा जारी करते हुए कहा कि राज्य में अब तक डेंगू के 18238 मामले सामने आये हैं जबकि इस जानलेवा बीमारी से इस दौरान 34 लोगों की मौत हुई है। अन्य राज्यों की तुलना में पश्चिम बंगाल में स्थिति उतनी खराब नहीं है। चिकित्सा में लापरवाही या रोग की पहचान करने में स्वास्थ्य विभाग के विफल होने के कारण लोग विरोध में सड़क पर उतरने लगे हैं। ऐसी स्थिति में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय जांच पड़ताल करता है और जरूरत पडऩे पर मदद करता है तो इससे तो राज्य सरकार को खुश होना चाहिए। स्वास्थ्य विषय संयुक्त सूची में है। इसलिए जरूरत पडऩे पर इस विषय में केंद्र हस्तक्षेप कर सकता है। राज्य को हर मुद्दे पर केंद्र का विरोध करने की मानसिकता बदलनी चाहिए।
हाईलाइटर::(विपक्षी दल जब इस पर शोरगुल मचाने लगे और आम लोगों में क्षोभ बढऩे लगा तो सरकार ने राज्य में डेंगू का प्रकोप बढऩे की बात स्वीकार की।)

[ स्थानीय संपादकीय: पश्चिम बंगाल ]

Posted By: Bhupendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप