गाजियाबाद। इंदिरापुरम निवासी और आगरा के पूर्व विधायक ओपी जिंदल बाबा बर्फानी की अमरनाथ यात्र से जान बचाकर आए हैं। टूर एजेंसी की धोखाधड़ी के शिकार पूर्व विधायक के साथ 11 अन्य लोग भी मौत के मुंह से वापस लौटे हैं। बाबा बर्फानी की अमरनाथ यात्र में जाएं, तो दिल्ली की टूर एजेंसियों के झांसे में न आएं।

ओपी जिंदल एक दिन पहले ही अमरनाथ यात्र से लौटे हैं और अब हरेक को यही सलाह दे रहे हैं। कनाट प्लेस की टूर एजेंसी के साथ तीस हजार रुपये प्रति व्यक्ति का टूर पैकेज लेकर दर्शन को गए जिंदल बताते हैं कि टूर एजेंसी की बदइंतजामी पहले दिन से ही शुरू हो गई थी, लेकिन बाद में तो एजेंसी ने सारी हद पार कर दी।

उनके साथ 11 लोगों को अमरनाथ गुफा से कई किमी पहले पंचतरणी के हेलीपैड पर दोपहर में साढ़े 12 बजे छोड़ दिया गया। दर्शन कर सभी लोग शाम पांच बजे वापस लौटे तो हेलीकॉप्टर नहीं मिला।

ठहरने का इंतजाम भी नहीं था। एजेंसी का कर्मचारी भी नहीं मिला। शाम को सर्दी शुरू होते ही सभी बीमार पड़ने लगे। वह बेहोश हो गए। पत्नी शशि ने रिश्तेदारों को फोन कर जानकारी दी। उनकी कोशिशों से स्थानीय प्रशासन ने बिस्तर मुहैया कराया।

Posted By: JP Yadav