जासं, नई दिल्ली : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की पुस्तकें अब स्मार्टफोन पर भी उपलब्ध होंगी। संघ की पुस्तकों के प्रकाशन समूह सुरुचि प्रकाशन ने 67 पुस्तकों को हाल ही में ऑनलाइन प्लेटफार्म पर उपलब्ध कराया है। इसके लिए एक मोबाइल एप जारी किया गया है। प्रकाशन की कोशिश है कि इस माध्यम में जल्द ही कुल 100 से अधिक पुस्तकों को उपलब्ध करा दिया जाए।

ऑनलाइन उपलब्ध पुस्तकों में श्री गुरू जी दृष्टि और दर्शन, श्री गुरू जी परिचय एवम व्यक्तित्व, डॉ. हेडगवार, बाला साहब देवरस, छत्रपति शिवाजी, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, पं. दीनदयाल उपाध्याय, दीनदयाल उपाध्याय विचार दर्शन एकात्म मानव दर्शन, वीर सावरकर, राष्ट्र पुरुष बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर व विवेकानंद के जीवन परिचय के साथ उनका दर्शन भी शामिल है।

इस बारे में सुरुचि प्रकाशन का दिल्ली में कामकाज देख रहे गौतम सप्रा ने कहा कि लोगों की सुरुचि प्रकाशन की पुस्तकों में दिलचस्पी है, लेकिन हर किसी तक इसकी पहुंच आसान नहीं है। ऐसे में इनको ऑनलाइन माध्यम पर लाकर इनकी उपलब्धता सबके लिए आसान बनाई जा रही है। उन्होंने कहा कि युवाओं में दीनदयाल उपाध्याय के एकात्म मानव दर्शन के साथ ही संघ के सरसंघ चालकों के प्रति रुचि बढ़ी है। ऐसे में ऑनलाइन माध्यम से अधिक से अधिक लोग इन लोगों के जीवन और दर्शन को जान सकेंगे। उन्होंने बताया कि ऑनलाइन माध्यम में ये पुस्तकें मुफ्त उपलब्ध होंगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप