जागरण संवाददाता, नई दिल्ली :

मुखर्जी नगर के दशहरा ग्राउंड में कोरोना संकट के चलते रावण दहन अनोखे अंदाज में किया गया। असल में इस बार दशहरा ग्राउंड में कोरोना रूपी रावण को जलाया गया। जब श्रीराम ने तीर के जरिये कोरोना रूपी रावण को मारा तो रावण का पुतला जल उठा। इस दौरान जय श्री राम के नारों से आयोजन स्थल गूंज उठा। दशहरा ग्राउंड के अंदर 100 लोगों को ही उपस्थित रहने की अनुमति मिली। वहां मौजूद लोगों ने इस दौरान यह कामना भी की जल्द से जल्द कोरोना खत्म हो और लोगों को इस बीमारी से निजात मिले।

बारी-बारी से मेघनाथ, कुंभकरण और फिर रावण का जब पुतला जला तो इसे देखने के लिए यहां से गुजरने वाले राहगीर रुक गए और आयोजन स्थल के बाहर से ही रावण दहन का नजारा देखने लगे।

बाल श्री रामलीला कमेटी के संयोजक अनिरुद्ध शर्मा ने बताया कि जिला प्रशासन से मंजूरी लेकर यह आयोजन किया था। प्रशासन ने 100 लोगों के ही प्रवेश की अनुमति दी थी। वहीं, कुर्सियों को दो गज दूरी के नियम के तहत दूर-दूर रखा गया था। साथ ही सभी कुर्सियों पर नंबर दे रखे थे। अतिथियों को भी तय नंबर की कुर्सी पर ही बैठना था। शर्मा ने बताया कि लोग घर बैठे इस आयोजन को देख सकें, इसके लिए इसका सीधा प्रसारण यूट्यूब और फेसबुक पर किया गया था।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस