राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली : दिल्ली में जुलाई के अंत तक कोरोना के साढ़े 5 लाख मरीजों के अनुमान पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को एक साक्षात्कार के दौरान सवाल उठाया था। उन्होंने कहा था कि उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के इस बयान से दिल्ली के लोगों में दहशत फैल गई। शाह के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए एक न्यूज चैनल को सोमवार को दिए गए साक्षात्कार में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि उनका मकसद दहशत फैलाना नहीं, बल्कि सभी को सचेत करना था।

केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार की एक वेबसाइट के फॉर्मूले के आधार पर ही साढ़े 5 लाख वाले आंकड़े सामने आए थे। उन्होंने कहा, 'हम दिल्ली की सरकार चला रहे हैं, यहां हर बात के लिए हमारी जिम्मेदारी बनती है। मरीज बढ़ने का इतना बड़ा अनुमान सामने आ रहा हो तो लोगों को क्यों नही बताएंगे।' उन्होंने कहा कि पिछले एक सप्ताह से कोरोना के केस बढ़ रहे है, लेकिन बड़ी संख्या में लोग ठीक भी हो रहे हैं। अब लोगों को अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत कम पड़ रही है। वे घर पर ही ठीक हो रहे हैं। फिर भी हम खाली नहीं बैठे हैं, बेड बढ़ा रहे हैं। दिल्ली में कोई दिक्कत तो मैं जिम्मेदार, अच्छे का क्रेडिट वो ले लें

कोरोना की तैयारी को लेकर भाजपा और आम आदमी पार्टी (आप) के श्रेय लेने के सवाल पर केजरीवाल ने कहा कि कोरोना से कोई एक सरकार नहीं जीत सकती। सभी लोगों के साथ आकर लड़ने से ही कोरोना के खिलाफ लड़ाई जीती जा सकती है। उन्होंने कहा कि जनता ने दिल्ली की जिम्मेदारी मुझे दी है। यदि कोरोना की जांच नहीं हो रही है या कोई और दिक्कत है तो उसके लिए मैं जिम्मेदार हूं। जो अच्छा हो रहा है कि उसका पूरा क्रेडिट चाहे वो (केंद्र सरकार) ले लें।

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में किसी दिक्कत को दूर करने के लिए यदि उन्हें किसी के पैर भी पकड़ने पड़े तो वह पकड़ेंगे। इस समय राजनीति नहीं करना है। लोगो की जान बचाना है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने जून में काम शुरू होने पर मदद की। केंद्र ने पीपीई किट, टेस्टिग किट, ऑक्सीजन सिलेंडर, रेलवे कोच, डॉक्टर और नर्स की सुविधा मांगने पर हमें उपलब्ध कराई। इस लड़ाई में डॉक्टर, नर्स, वालंटियर्स स्वयंसेवी संस्था, होटल, बैंक्वेट संचालक, केंद्र, दिल्ली सरकार सब मिलकर लड़ रहे हैं। चीन से आने वाले सामानों का देश में बढ़ाएं उत्पादन

केजरीवाल ने चीन से मौजूदा तनाव को लेकर पूछे सवाल पर कहा कि आज पूरा देश गुस्से में है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने हमारे क्षेत्र में कब्जा कर लिया है। यदि चीन से हम अपना क्षेत्र नहीं छुड़ा पाए तो हमारे 20 जवानों की आत्मा को शांति नहीं मिलेगी। उन्होंने कहा कि चीन ने 1962 में भी हमें धोखा दिया था। उसे फिर दोहराया है। वहीं चीन के सामान का बहिष्कार करने के अभियान पर केजरीवाल ने कहा कि इसे बड़े अवसर के रूप में देखना चाहिए। गणेश जी, लक्ष्मी जी की मूर्ति और दीवाली पर पटाखे भी चीन से आते हैं। केंद्र सरकार को चीन से आने वाले सामान की लिस्ट बनाकर उद्योगपतियों को देनी चाहिए। इन सभी चीजों को बड़े स्तर पर उत्पादन करने के लिए उनकी मदद करनी चाहिए। इससे रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस