जासं, बाहरी दिल्ली : आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय परिषद में 450 से ज्यादा सदस्य हैं, लेकिन परिषद की छठी बैठक में करीब तीन सौ सदस्य ही पहुंचे। डेढ़ सौ सदस्य क्यों नहीं आए, इसको लेकर यह चर्चा हो रही थी कि क्या इतने सदस्यों का अब पार्टी से मोह भंग हो गया है या फिर इनमें से अधिकांश सदस्य राजनीति से किनारा कर गए हैं या फिर अन्य दलों का दामन थाम लिया है। कुछ सदस्यों का कहना था कि परिषद का गठन करते हुए जिन लोगों को इसमें शामिल किया गया था, उनमें से अधिकांश का आप की राजनीति से मोह भंग हो गया है। जिस मकसद से पार्टी का गठन किया था, उससे वह भटक गई है। शायद इसी वजह से इन सदस्यों ने बैठक में आना उचित नहीं समझा। बैठक में आए कई सदस्यों का मानना था कि अगर पार्टी इसी तरह से चलती रही, तो परिषद की बैठक में सदस्यों की संख्या और भी कम हो सकती है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस