जागरण संवाददाता, नई दिल्ली : दिल्ली की सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी का अंदरूनी संकट अब सतह पर आ गया है। पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की बृहस्पतिवार को हुई बैठक के एजेंडे में तो कई विषय थे, लेकिन सबकी निगाह इस बात पर लगी थी कि कुमार विश्वास बोलेंगे कि नहीं। साथ ही यह भी कि विश्वास और उनके विरोधी माने जाने वाले विधायक अमानतुल्लाह खान के गुट कहीं आमने-सामने तो नहीं होंगे। विश्वास मंच से तो नहीं, लेकिन कार्यकर्ताओं के बीच जरूर बोले। इसी प्रकार दोनों गुटों ने बैठक में तो शांति बनाए रखी, लेकिन बाहर निकलते ही आस्तीनें चढ़ा लीं। विश्वास जब बैठक से निकल रहे थे, तो बाहर उनके समर्थक जिंदाबाद के नारे लगाने लगे। इस पर अमानतुल्लाह गुट के समर्थकों ने विश्वास के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। ऐसे असहज माहौल में संपन्न हुई राष्ट्रीय परिषद की बैठक में जहां पार्टी ने खुद की पीठ थपथपाई, वहीं उपराज्यपाल पर निशाना भी साधा गया।

आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक बाहरी दिल्ली के अलीपुर स्थित एक फार्म हाउस में सुबह दस बजे के बजाय साढ़े ग्यारह बजे शुरू हुई। इसमें आप विधायक अमानतुल्लाह खान का निलंबन वापस लिए जाने का मसला भी उठेगा, शायद इसी डर से अधिकांश सदस्यों के मोबाइल फोन सभागार के बाहर रखवा लिए गए थे। कुमार विश्वास सहित कई नेता सुबह ही पहुंच गए थे, लेकिन अर¨वद केजरीवाल शाम सवा चार बजे पहुंचे और पंद्रह मिनट बोलने के बाद चले गए। बैठक शुरू होने पर कुमार विश्वास के कुछ समर्थकों ने उनका नाम वक्ताओं की सूची में शामिल न होने पर आपत्ति जताई, जिसका केजरीवाल समर्थकों ने यह कहते हुए विरोध किया कि वक्ताओं का पैनल सर्वसम्मति से तय किया गया है। कुछ मिनट के लिए दोनों पक्षों के कुछ सदस्यों में तू-तू, मैं-मैं भी हुई, लेकिन कुमार विश्वास ने मामले को शांत करा दिया। बैठक के बाद कुमार विश्वास और अमानतुल्लाह गुट के बीच नारेबाजी तब शुरू हो गई, जब विश्वास अपनी गाड़ी से जाने लगे। विश्वास के समर्थकों ने समर्थन में नारे लगाए, तो अमानतुल्लाह के समर्थकों ने विरोध में नारेबाजी शुरू कर दी। कुमार विश्वास बिना रुके ही चले गए। इसके बाद जब अमानतुल्लाह खान निकले, तो विश्वास के समर्थकों ने उनके खिलाफ नारेबाजी की।

गौरतलब है कि पार्टी नेतृत्व के खिलाफ आवाज उठाने पर प्रशांत भूषण, योगेंद्र यादव, प्रो. आनंद कुमार जैसे संस्थापक सदस्यों को पार्टी से बाहर कर दिया गया। इसी प्रकार करावल नगर से पार्टी के विधायक कपिल मिश्रा को भी मंत्री पद से हटाकर किनारे लगा दिया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस