गाजियाबाद [जेएनएन]। ईदगाह कॉलोनी में बृहस्पतिवार शाम ससुराल आए शौहर ने तैश में आकर रोजा इफ्तार के लिए बाजार से खजूर लाने की जिद कर रही बीवी को तीन तलाक दे दिया। इससे आक्रोशित बीवी ने अपने भाइयों के साथ मिलकर शौहर का सिर मुंडवाकर उसे घर से निकाल दिया। दो घंटे बाद गलती का अहसास होने पर शौहर अपनी बीवी के सामने फूट-फूटकर रोया।

ईदगाह कॉलोनी निवासी युवती का निकाह पांच साल पहले अलीगढ़ के पटवारी नंगला निवासी युवक के साथ हुआ था। एक सप्ताह पूर्व युवती अपने मायके मुरादनगर आई थी। बृहस्पतिवार को युवती ने रोजा रखा था। रोजा इफ्तर के समय शौहर अपनी बीवी को लेने के लिए ससुराल आया। वह साथ में फल भी लेकर आया था, लेकिन उसमें खजूर नहीं थे। खजूर नहीं होने पर बीवी भड़क गई और उसने रोजा इफ्तार के लिए तुरंत बाजार से खजूर लाने के लिए कहा।

खजूर को लेकर हुआ झगड़ा 

शौहर ने फल से ही रोजा इफ्तार करने के लिए कहा और खजूर लाने से साफ इन्कार कर दिया। इसी बात को लेकर शौहर व बीवी में नोकझोंक शुरू हो गई। जरा-सी बात पर शौहर ने ऐसा आपा खोया कि बीवी को तीन बार तलाक कह दिया। तलाक कहने पर बीवी के भाइयों ने उसके साथ मारपीट कर दी। बाद में बीवी के कहने पर भाइयों ने जबरन शौहर सिर मुंडवा दिया। इसके बाद भाइयों ने उसका मुंह काला करने का प्रयास किया, लेकिन बीवी ने ऐसा करने से रोक दिया।

पति को हुआ गलती का एहसास

करीब दो घंटे बाद पति को अपनी गलती का अहसास हुआ तो वह बीवी के सामने फूट-फूटकर रोने लगा। उसने माफी मांगते हुए बीवी को अपने साथ चलने को कहा। बीवी ने उसके साथ जाने से साफ इन्कार कर दिया। इसके बाद बीवी के भाइयों ने उसे घर से भगा दिया। शौहर रोता हुआ अकेला ही अपने घर अलीगढ़ लौट गया।

क्या कहते हैं मौलाना 

पूरे मामले पर इमाम मौलाना रिजवान ने कहा कि अल्लाह रोजे के महीने में तीन तलाक देने की सजा शौहर को देगा। लेकिन तलाक कहने पर सिर मुंडवाना गलत है। महिला इस मामले में शरई कानून का सहारा ले सकती थी।

यह भी पढ़ें: चार बच्चों की मां को पति ने फोन पर बोला तलाक...तलाक...तलाक

यह भी पढ़ें: अश्लील वीडियो बनाकर मां को किया ब्लैकमेल, बेटी के साथ किया दुष्कर्म

Posted By: Amit Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस