नई दिल्ली, जागरण न्यूज नेटवर्क। राजधानी दिल्ली के विभिन्न अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी की बात सामने आ रही है, वहीं इसकी पूर्ति के लिए भी तैयारी युद्ध स्तर पर शुरू हो गई है। पिछले 24 घंटे के दौरान दिल्ली के कई अस्पतालों में युद्ध स्तर पर ऑक्सीजन पहुंचाने का काम किया गया। बुधवार सुबह भी दिल्ली के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति की गई, जिससे तकरीबन 600 लोगों की जान बचाई जा सकी। दरअसल, सीएम अरविंद केजरीवाल के अलावा कैबिनेट के मंत्री मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन भी इस कमी को केंद्र सरकार के संज्ञान में ला चुके हैं।  

जीटीबी में पहुंचाया गया ऑक्सीजन सिलेंडर

दिल्ली के गुरु तेग बहादुर अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के चलते 500 गंभीर मरीजों की जान पर बन आई थी। इस बाबत दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने ट्वीट कर केंद्रीय मंत्री से मदद भी मांगी थी। वहीं, मामले को संज्ञान लेते हुए समय पर ऑक्सीजन टैंकर के पहुंचने से सभी मरीजों को बचाया गया है। जागरण संवाददाता से मिली जानकारी के मुताबिक, दिल्ली के जीटीबी अस्पताल के साथ गंगाराम अस्पताल को भी मंगलवार देर रात ही ऑक्सीजन मिली है। वहीं, अभी भी कई अस्पताल ऑक्सीजन की सप्लाई के इंतजार में हैं।

वहीं, सर गंगाराम अस्पताल का कहना है कि उसके पास अब बृहस्पतिवार सुबह 9 बजे तक के लिए ही ऑक्सीजन है। सर गंगाराम अस्पताल के अधिकारियों ने बताया कि मंगलवार को रात निजी वेंडर ने 4500 क्यूबिक मीटर ऑक्सीजन उपलब्ध कराया और आईनॉक्स एयर ने 6000 क्यूबिक मीटर ऑक्सीजन की सप्लाई की। इस समय हमें कुल 11000 क्यूबिक मीटर ऑक्सीजन सप्लाई की जरूरत है। यह बृहस्पतिवार सुबह 9.00 बजे तक चलेगी। वहीं, आपूर्ति करने वाली कंपनियों ने आश्वस्त किया है कि वह दिन में भी ऑक्सीजन की आपूर्ति करेंगी, जिससे कोरोना मरीजों को कोई दिक्कत नहीं आए।

एलएनजेपी में भी रात को पहुंची 10 टन ऑक्सीजन की खेप

दिल्ली के नामी लोक नायक जयप्रकाश अस्पातल में (एलएनजेपी) में भी 10 टन ऑक्सीजन की आपूर्ति की गई है।एलएनजेपी अस्पताल के अधिकारियों ने बताया कि मंगवलार रात को यहां पर 10 टन ऑक्सीजन की सप्लाई हुई है जो वर्तमान समय के लिए उपयुक्त है। जरूरत के हिसाब से मांग की जाएगी।

ये भी पढ़ेंः बुखार आता है तो कोरोना समझकर परेशान न हों, ये वायरल भी हो सकता है; डॉक्टर ने दी ये सलाह

 

जनकपुरी के अस्पताल में ऑक्सीजन पहुंचाकर बचाई गई 32 लोगों की जान

वहीं, जागरण संवाददाता से मिली जानकारी के मुताबिक, जनकपुरी के अमरलीला अस्पताल में अचानक ऑक्सीजन खत्म होने की जानकारी मिली। इसके बाद  अस्पताल में ऑक्सीजन पहुंचाई गई। समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक,  जनकपुरी के अमरलीला अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी की जानकारी मिलने पर दिल्ली पुलिस ने यहां ऑक्सीजन उपलब्ध करवाई। कीर्तिनगर से ऑक्सीजन सिलेंडर लाया गया, जिससे 32 लोगों की जान बच सकी।

गौरतलब है कि दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के रिकॉर्डतोड़ मामले सामने आ रहे हैं। वहीं, मौतों का आंकड़ा भी तेजी से बढ़ा है।  

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021