नई दिल्ली, जेएनएन। इस सप्ताह फिर से दिल्ली में मौसम बिगड़ने के आसार हैं। पश्चिमी विक्षोभ और पूर्वी हवाओं के आपस में मिलने से दिल्ली-एनसीआर में एक बार फिर ओलावृष्टि हो सकती है। 14 फरवरी को तेज हवाओं के साथ बरसात और ओलावृष्टि दोनों की ही संभावना बन रही है। दूसरी तरफ बर्फीली हवाओं के कारण ठिठुरन भरी ठंड का दौर भी जारी है। सोमवार को भी ठंड का दौरान जारी रही, लोग ठिठुरते नजर आए। वहीं, सोमवार को आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे। अधिकतम तापमान 22 डिग्री और न्यूनतम तापमान 6 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। मौसम विभाग का मानना है कि यह बादल वायुमंडल के ऊपरी स्तर वाले थे। ऐसे बादलों से बारिश की संभावना नहीं होती, लेकिन यह धूप को अवश्य ही रोक लेते हैं जिससे ठंड बढ़ जाती है।

इससे पहले रविवार को भी दिल्लीवासियों को कड़ाके की सर्दी झेलनी पड़ी। मौसम विभाग के अनुसार मौसमी परिस्थितियों में हो रहे बदलाव की वजह से दिल्ली के लोगों को एक बार फिर से ओलावृष्टि झेलनी पड़ सकती है। हालांकि इस बार ज्यादा ओलावृष्टि तो नहीं होगी। अलबत्ता, 14 फरवरी को दिल्ली के कुछ हिस्सों में ओले गिरने का अनुमान है।

उधर, दिल्ली में रविवार को सुबह से ही चटक धूप खिली रही। इसके बावजूद उच्च हिमालयी हिमपात वाले क्षेत्रों से आ रही बर्फीली हवाओं के चलते दिन भर लोगों को कड़ाके की ठंड झेलनी पड़ी। यह बात अलग है कि धूप तेज होने के साथ-साथ ठंड का असर भी कम होता गया। लेकिन, पश्चिमी विक्षोभ के असर से दोपहर बाद एक बार फिर से बादल छा गए। मौसम विभाग का मानना है कि यह बादल वायुमंडल के ऊपरी स्तर वाले थे। ऐसे बादलों से बारिश की संभावना नहीं होती, लेकिन यह धूप को अवश्य ही रोक लेते हैं जिससे ठंड बढ़ जाती है।

रविवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 21.6 डिग्री सेल्सियस रहा जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से 4 डिग्री कम 6 डिग्री सेल्सियस रहा। नमी का स्तर 52 से 100 फीसद दर्ज किया गया। वायु प्रदूषण का स्तर हुआ खराब हवा की गति में बदलाव होने से रविवार को दिल्ली में वायु प्रदूषण का स्तर एक बार फिर से खराब श्रेणी में पहुंच गया।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा जारी एयर बुलेटिन के मुताबिक रविवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स 276 रहा। इस स्तर की हवा को खराब श्रेणी में रखा जाता है। शाम के पांच बजे हवा में प्रदूषक कण पीएम 10 की मात्रा 233.3 और पीएम 2.5 की मात्रा 122.8 के स्तर पर रही। जो कि निर्धारित मानकों से दोगुने से ज्यादा है। एनसीआर के शहरों में गाजियाबाद का एयर इंडेक्स 251, भिवाड़ी का 100, फरीदाबाद का 125, ग्रेटर नोएडा का 240 और नोएडा का 265 दर्ज किया गया। हालांकि, अगला पश्चिमी विक्षोभ जल्दी आने के चलते वायु गुणवत्ता की हालत ज्यादा खराब होने की संभावना नहीं है।