Move to Jagran APP

Water Crisis in Delhi: दिल्ली के कई इलाकों में जलसंकट बरकरार, इधर-उधर पानी के लिए दौड़ लगा रहे लोग

Delhi Water Crisis पानी संकट को लेकर दिल्ली सरकार द्वारा पड़ोसी राज्यों पर हमलावर रूख अपनाने के बीच राष्ट्रीय राजधानी में पानी का संकट बरकरार है। सोमवार को भी कई इलाकों में पानी की आपूर्ति नहीं हुई तो जहां हुई वहां पानी का दबाव कम था या काफी कम वक्त के लिए आया जिसके कारण लोग की तलाश में जूझते रहे।

By Nimish Hemant Edited By: Geetarjun Published: Mon, 10 Jun 2024 10:45 PM (IST)Updated: Mon, 10 Jun 2024 10:45 PM (IST)
दिल्ली के कई इलाकों में जलसंकट बरकरार।

जागरण संवाददाता, नई दिल्ली। पानी संकट को लेकर दिल्ली सरकार द्वारा पड़ोसी राज्यों पर हमलावर रूख अपनाने के बीच राष्ट्रीय राजधानी में पानी का संकट बरकरार है। सोमवार को भी कई इलाकों में पानी की आपूर्ति नहीं हुई तो जहां हुई वहां पानी का दबाव कम था या काफी कम वक्त के लिए आया, जिसके कारण लोग की तलाश में जूझते रहे।

पुरानी दिल्ली के कई इलाकों में पानी का संकट बरकरार है। चूड़ीवालान, मटिया महल, तुर्कमान गेट, चांदनी चौक, सीताराम बाजार समेत कई इलाकों में लोग पानी को लेकर शिकायत करते दिखे। क्योंकि, अधिकतर इलाकों में जहां बोरिंग से पानी की आपूर्ति भी जवाब दे रही है। ऐसे में लोग निजी बोरिंग से पानी खरीदकर काम चला रहे हैं।

यहां भी जल आपूर्ति रही प्रभावित

इसी तरह, नई दिल्ली के संजय कैंप व बलजीत नगर, इंद्रपुरी समेत कई इलाकों में जलापूर्ति प्रभावित रहीं। संजय कैंप में पानी के लिए नल के सामने लंबी लाइन लगी रही। लाइन में लगी सरोज ने बताया कि दो घंटे पहले ही उन्होंने बाल्टी रख दी है, लेकिन पानी नहीं आया था।

दक्षिणी दिल्ली में भी जल संकट

वहीं, दक्षिणी दिल्ली के सरोजनी नगर में एक जगह पानी की लीकेज थी, जिसे शिकायत बाद जलबोर्ड कर्मियों ने ठीक कर दिया। उधर, यमुनापार में पानी की किल्लत से परेशानी बनी हुई है। सोनिया विहार, सादतपुर, भजनपुरा, शिव विहार, अशोक नगर, न्यू माडर्न शाहदरा, न्यू अशोक नगर, नंद नगरी, शकरपुर, मंडावली, राम नगर में पानी का टोटा हो रहा है।

इन इलाकों में कुछ जगहों पर पानी के प्रेशर कम होने से दिक्कत है। ज्यादातर इलाकों में पानी गंदा आने से लोग उसका उपयोग पीने में नहीं कर पा रहे हैं। रोहतास नगर के विधायक जितेंद्र महाजन ने बताया कि न्यू माडर्न शाहदरा में ट्यूबवेल का पानी भी गंदा आ रहा है। सुभाष पार्क की कई गलियों में पानी ही नहीं आ रहा।

पश्चिमी दिल्ली के कई इलाके ऐसे हैं जहां गंदा पानी आ रहा है तो कई इलाके ऐसे हैं जहां पर्याप्त पानी आ ही नहीं रहा है।

द्वारका से सटे भरत विहार में पानी की किल्लत के विरोध में कुछ ही दिन पहले स्थानीय लोगों ने प्रदर्शन किया था। लेकिन प्रदर्शन के बाद भी वहां के हालात नहीं सुधरे। स्थानीय मारीदास प्रधान ने बताया कि लोग पीने के पानी का इंतजाम काफी मुश्किल से कर रहे हैं।

हर किसी के बस में पानी की बोतल खरीदना नहीं है। ऐसे में लोग दूर दूर से पानी भरकर लाने को विवश हैं। स्थानीय महिला प्रियंका का कहना है कि काफी मांग के बाद जल बोर्ड टैंकर उपलब्ध कराता है, लेकिन जितनी जरूरत होती है, उतना टैंकर नहीं मिलता। उधर बिंदापुर में भी पानी की समस्या है। यहां के लोगों का कहना है कि एक तो पानी कम आता है। ऊपर से जो पानी आता है, वह गंदा आता है।

बाहरी दिल्ली के किराड़ी और क्षेत्र अगर नगर, शर्मा इन्क्लेव, प्रेमनगर के अलावा बेगमपुर, राजीव नगर और वजीरपुर, हैदरपुर, यादव नगर आदि में पिछले कुछ समय से लगातार जल संकट बना हुआ है।इन इलाकों की बड़ी आबादी टैंकर के पानी पर आश्रित है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.