नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। तिहाड़ जेल संख्या तीन में हिंसा का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है। अंकित गुर्जर की हत्या के बाद जेल में स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। आलम यह है कि यहां से लगभग रोज मारपीट की खबरें बाहर आ रही हैं। ताजा मामला विजय नामक विचाराधीन कैदी के साथ मारपीट का है। मारपीट के दौरान विजय पर चाकू से वार किया गया। पुलिस को मामले की जानकारी डीडीयू अस्पताल से मिली। विजय पर उसके साथी कैदी जानी ने दो बार वार किया।

पुलिस के अनुसार मामला सोमवार सुबह दस बजे का है। हरिनगर थाना पुलिस ने इस बाबत मारपीट का मामला दर्ज कर घटना की छानबीन शुरू कर दी है। इससे पहले इसी जेल में विकास नामक कैदी को विकास नामक दूसरे कैदी ने धारदार हथियार से घायल कर दिया। आरोप है कि इस दौरान सर्जिकल ब्लेड का इस्तेमाल किया गया। बड़ा सवाल यह है कि जेल में कैदी तक सर्जिकल ब्लेड कहां से पहुंचा। पुलिस यह पता कर रही है कि इस मामले में आरोपित क्या घटना से पहले अस्पताल में भर्ती हुआ था। आशंका है कि अस्पताल में ही कैदी ने सर्जिकल ब्लेड चुराकर रख लिया हो।

गौरतलब है कि 11 सितंबर को जेल संख्या तीन में बंद विचाराधीन कैदी सुमित दत्त के साथ मारपीट का मामला सामने आया था। सुमित पर चाकू से वार किए गए थे। पूछताछ में सुमित ने पुलिस को बताया कि कालू व बिलौठा नामक कैदियों से उसकी लड़ाई हुई थी। इस दौरान उस पर धारदार हथियार से वार किए गए। पुलिस के अनुसार मारपीट में बृजेश को चोटें आईं।

कैदियों में बढ़ी गुटबाजी

पुलिस सूत्रों का कहना है कि 11 सितंबर की घटना के बाद जेल में कैदियों का दो गुटे बन चुका है। दोनों गुट एक दूसरे पर हमले की ताक में रहते हैं। हालांकि, जेल प्रशासन ने इस घटना के बाद निगरानी का स्तर बढ़ा दिया है। जेल में नियमित रूप से तलाशी अभियान चलाया जा रहा है।

Edited By: Vinay Kumar Tiwari