गुरुग्राम [सतीश राघव]। प्रदेश सरकार व शिक्षा विभाग ने गैरमान्यता प्राप्त स्कूलों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। शिक्षा विभाग की ओर से तय गाइडलाइन की अनदेखी करने वाले गैरमान्यता प्राप्त स्कूलों पर गाज गिरेगी जो सरकार व विभाग की अनदेखी कर रहे हैं। ऐसे स्कूल जांच के दायरे में हैं जिन पर विभाग जल्द सख्त कार्रवाई करेगा। शिक्षा विभाग के निर्देश पर गठित कमेटी ने सोमवार को सोहना खंड के गैरमान्यता प्राप्त 61 स्कूलों का निरीक्षण किया।

कमेटी ने अपनी रिपोर्ट तैयार कर ली है जिसके आधार पर उन स्कूलों पर गाज गिरना संभव है जो गैरमान्यता के दायरे में आते हैं। सोमवार को शुरू की गई गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों की जांच के बाद ऐसे स्कूल संचालकों में हड़कंप मच गया है। सोहना खंड में 64 स्कूल गैर मान्यता प्राप्त के दायरे में थे, जिनमें तीन स्कूल देव मेमोरियल विद्यालय, आस्था विद्यालय, सेंट जोंस स्कूल जखोपुर को मान्यता मिल चुकी है। इसके अलावा 6 स्कूलों ने मान्यता के लिए फाइल लगा रखी है, जो प्रोसेस में है।

9 स्कूल पूर्णतया बंद हो चुके हैं। इसके अलावा दो प्ले स्कूल है। निरीक्षण में अन्य कई स्कूल गैरमान्यता प्राप्त पाए गए हैं जिनकी रिपोर्ट तैयार कर दी गई है जिसे जल्द ही विभाग को मौके से प्राप्त रिपोर्ट पेश करने की बात शिक्षा विभाग के अधिकारी कर रहे है। प्रदेश सरकार व शिक्षा विभाग की ओर से मिले दिशा-निर्देश पर सोमवार को सोहना खंड के गैरमान्यता प्राप्त स्कूलों का निरीक्षण किया गया।

स्कूल हेड मास्टर व लेक्चर की दो -दो सदस्यों की गठित कमेटी ने सोहना खंड के गैर मान्यता प्राप्त 61 स्कूलों में पहुंचकर तमाम दस्तावेज व स्कूल की पड़ताल की।
सरोज दहिया, खंड शिक्षा अधिकारी, सोहना ने बताया क‍ि तमाम जानकारियां जुटाई गई है जिसकी रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को भेज दी जाएगी। 

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप